college scandal - बैकलॉग भर्ती के नाम पर इस यूनिवर्सिटी में हुआ यह गन्दा काम

deepak deewan

Publish: Sep, 17 2017 03:54:11 (IST)

Jabalpur, Madhya Pradesh, India
college scandal - बैकलॉग भर्ती के नाम पर इस यूनिवर्सिटी में हुआ यह गन्दा काम

आरडीवीवी में बड़े घोटाले का आरोप, हाईकोर्ट ने पूछा- गुपचुप कैसे हो गईं आठ विभागों में भर्ती

जबलपुर। जिस यूनिवर्सिटी को कभी उच्च अध्ययन के बड़े और प्रतिष्ठित केंद्र के रूप में जाना जाता था वह अब न केवल फिसड्डी बन गई है बल्कि नित नए घोटालों और गड़बडिय़ों के कारण जानी जा रही है। रानी दुर्गावती यूनिवर्सिटी को नैक मूल्यांकन में बी ग्रेड मिला है, ग्रेडिंग इतनी गिरी है कि देशभर की फिसड्डी यूनिवर्सिटी में शुमार हो गई है जबकि घोटाले के तो ऐसे आरोप लग रहे हैं कि इसमें यूनिवर्सिटी अव्वल आती दिख रही है।


भर्ती में किया करोड़ों का खेल
मप्र हाईकोर्ट ने उस याचिका पर गंभीरता दिखाई है, जिसमें रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय जबलपुर में बैकलॉग पदों पर गुपचुप व अनियमित तरीके से भर्ती करने का आरोप लगाया गया है। विश्वविद्यालय के आठ विभागों में यह भर्तियां की गई थी। मामले की सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट की जस्टिस वंदना कसरेकर की सिंगल बेंच ने आरडीवीवी कुलपति, रजिस्ट्रार व सीबीआई सहित अन्य को नोटिस जारी कर पक्ष प्रस्तुत करने को कहा है। जगदंबा कॉलोनी, बल्देवाबाग निवासी नितिन राज ने याचिका दायर कर कहा है कि विवि ने २५ अक्टूबर २०१२ को १९ अलग-अलग विभागों में अनुसुचित जाति, जनजाति वर्ग-३ व ४ कर्मचारियों के ६० बैकलॉग पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किया। २६ अप्रैल २०१३ को भर्ती प्रक्रिया गुपचुप तरीके से निरस्त कर दी गई। ५ जून २०१३ को एक शुद्धिपत्र जारी कर इनमें से आठ विभागों के बैकलॉग पद खत्म करते हुए केवल ११ विभागों के लिए भर्ती का विज्ञापन जारी किया गया। याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता अजय रायजादा ने कोर्ट को बताया कि उसे १५ जून २०१३ को एक पत्र मिला, जिसमें जानकारी दी गई कि इसके लिए परीक्षा २३ जून व साक्षत्कार आदि २४ जून २०१३ को होंगे लेकिन २३ जून २०१३ को हुई परीक्षा का परिणाम आधी रात तक घोषित नहीं किया गया।


बारह घंटे में जांची ढाई हजार कॉपियां
आरोप है कि लगभई ढाई हजार परीक्षार्थियों की कॉपी विवि ने १२ घंटे में जांच ली। दूसरे दिन सुबह ११ बजे साक्षत्कार व कम्प्यूटर परीक्षा के लिए पात्र उम्मीदवारों की सूची चस्पा कर दी गई। दो बजे से प्रक्रिया आरंभ हुई। प्रारंभिक सुनवाई के बाद कोर्ट ने रादुविवि कुलपति, रजिस्ट्रार, पूर्व रजिस्ट्रार एमएस अवाश्या व सीबीआई को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned