ऐसे बमों को देखा जो पलभर में मचा दे तबाही

ओएफके में बमों की प्रदर्शनी मे उमड़ा शहर, तीनों सेनाओं के दिखाए उत्पाद

By: gyani rajak

Updated: 17 Mar 2019, 09:19 PM IST

जबलपुर. आयुध निर्माणी दिवस के उपलक्ष्य में आयुध निर्माणी खमरिया (ओएफके) में दुश्मन और उसके ठिकानों को तबाह करने वाले बमों को जब लोगों ने देखा तो अचंभित रह गए। उन्होंने इन्हें हाथ में उठाया। सीनियर स्टाफ क्लब में रविवार के दिन तीनों सेनाओं के बमों को देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ रही। बच्चों ने वायुसेना के एरियल बम और थाउजेंड पौंडर बम पर बैठकर भी देखा। दूसरी तरफ पुरुष और महिलाएं इन बमों की ताकत जानकर हैरान थीं। जब उन्हें बताया गया कि छोटा सा बम भी भारी तबाही मचा सकता है तो वह अचंभित हो गए।

आयुध निर्माणी दिवस के उपलक्ष्य में ओएफके के उत्पादों की प्रदर्शनी में अंतिम दिन न केवल फैक्ट्रीकर्मी और उनका परिवार शहर के आम लोग भी बड़ी तादाद में पहुंचे। लोगों ने बमों के साथ सेल्फी ली। कंधे पर रखकर रॉकेट लॉन्चर के वजन की जानकारी ली। फोटो खिंचवाईं। इसी प्रकार लोगों ने बमों को उठाकर उसके वजन को परखा। उन्हें फैक्ट्री के स्टाफ ने विशेषताओं से अवगत कराया। प्रदर्शनी में वायुसेना, नौसेना और थलसेना के करीब एक सैकड़ा उत्पादों को रखा गया। इस दौरान देश सैनिकों के सराहनीय कार्यों को लेकर बनाई गई पेंटिंग की प्रदर्शनी भी लगाई गई।

किसकी है कितनी ताकत

551 एंटी टैंक एमुनेशन

प्रदर्शनी में 84 एमएम के अलग-अलग उत्पादों को रखा गया। इसमें शामिल 551 एंटी टैंक एमुनेशन को रॉकेट लॉन्चर की सहायता से 700 मीटर तक निशाना साधा जा सकता है। इसका इस्तेमाल बंकर और आर्मड वीकल उड़ाने में किया जाता है।

रात में हो जाता है उजाला

84 एमएम श्रृंखला में इन्युमिनेटिंग 545 की भी बड़ी खासियत है। इसका उपयोग अंधेरे में उजाला करने के लिए किया जाता है। जैसे ही इसे छोड़ा जाता है तो 500 मीटर के एरिया में 5- 6 सेकंड के लिए जबर्दस्त उजाला हो जाता है।

पानी में 20 किमी तक मार

एके-100 जलसेना के प्रमुख उत्पादों में एक है। पानी के जहाज से 20 किमी की दूरी तक फायर किया जा सकता है। इसी प्रकार एसआरजीएम भी ऐसा एमुनेशन है कि यह दुश्मन के जहाज को ध्वस्त करने तक पीछा नहीं छोड़ता।

अभिनंदन इससे बचे थे

इग्लेटिंग सीट इलेक्शन चार्ज ऐसी युक्ति जिसका इस्तेमाल पीओके में अटैक के दौरान विंग कमांडर अभिनंदन ने उपयोग किया। जैसे ही एयरक्राफ्ट क्रैश होता है तो सीट के नीचे लगी यह युक्ति पायलट को सीट सहित पुश कर ऊपर फेंक देती है।

इसकी है सेना में मांग

125 एमएम एफएसएपीडीएस टैंकी भेदी बम को पहली बार प्रदर्शन में रखा गया। इसकीसेना में बड़ी मांग है। मैंगो प्रोजेक्ट के नाम से मशहूर इस बम के जरिए दुश्मन के टैंक को नेस्तनाबूत किया जा सकता है।

एक मिनट में 500 राउंड

30 एमएम बीएमपी-2 एंटी एयरक्राफ्ट बम को जमीन से हवा में और हवा से हवा में इस्तेमाल किया जा सकता है। 25 सौ मीटर तक यह काम करता है। गन से एक मिनट में 500 से ज्यादा राउंड फायर किए जा सकते हैं।


वाहन रैली और हास्य कवि सम्मेलन

आयुध निर्माणी दिवस पर वीकल फैक्ट्री के द्वारा युद्धक वाहनों की रैली निकाली जाएगी। सुबह 9.30 बजे गेट नम्बर 6 से रैली निकलेगी। रैली को महाप्रबंधक गोविंदमोहन हरी झंडी दिखाएंगे। इससे पहले सुबह 6 बजे गेट नम्बर एक से प्रभात फेरी निकलेगी। वाहन रैली में स्टालियन, सुरंगरोधी वाहन, एलपीटीए, बुलेटपू्रफ वीकल और वाटर बाउजर सहित अन्य उत्पाद शामिल किए जाएंगे। रैली सतपुला, कांचघर, घमापुर, हाईकोर्ट चौराहा, मालवीय चौक, नगर निगम गोरखपुर सदर और सिविल लाइन तथा रांझी पहुंचेगी। मुख्य कार्यक्रम सुबह 11 बजे प्रशासनिक भवन में होगा। शाम 6 बजे सेक्टर-2 स्थित कम्युनिटी हॉल में चित्र प्रदर्शनी होगी। यहां पर मॉडिफाइड माइन प्रोटेक्टिड वीकल का प्रदर्शन भी किया जाएगा। वहीं शाम 8 बजे सेक्टर-2 कम्युनिटी हॉल में ही अखिल भारतीय हास्य कवि सम्मेलन होगा। इसमें नामी कवि शिककत कर रहे हैं।

जीसीएफ में शारंग गन देख सकेंगे लोग

आयुध निर्माणी दिवस पर जीसीएफ में भी उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। सुबह 9.30 बजे प्रदर्शन का उद्घाटन महाप्रबंधक रजनीश जौहरी करेंगे। इस दौरान धनुष इंटीग्रेटेड सेंटर का उद्घाटन भी किया जाएगा। प्रदर्शनी में आकर्षण का केन्द्र शारंग गन रहेगी। यह पहला मौका होगा जब लोग इसे देख सकेंगे। जनसंपर्क अधिकारी प्रशांत प्रसन्ना ने बताया कि आम लोगों के लिए प्रर्दशनी सुबह 11 से शाम 4 बजे तक खुली रहेगी। इसमें धनुष, एल-70 गन सहित अन्य उत्पादों को रखा जाएगा।

जीआईएफ में विविध आयोजन

जीआईएफ में भी आयुध निर्माणी दिवस पर कार्यक्रम होंगे। प्रशासनिक अधिकारी डॉ भीमसेन हन्टल ने बताया कि वीएफजे इस्टेट सेे सुबह 7.30 बजे महाप्रबंधक डीके बंगौत्रा के साथ सदभावना रैली निकाली जाएगी। फिर यहां बने उत्पादों को गेट नम्बर एक पर प्रदर्शित किया जाएगा। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व महाप्रबंधक आशुतोष कुमार, पूनम कुमार एवं कैलाश बंगौत्रा, अघ्यक्ष संचारी महिला समिति जीआईएफ एवं अध्यक्षता डीके बंगौत्रा करेंगे। निर्माणी मुख्य द्वार पर चित्र एवं कास्टिंग प्रदर्शनी लगायी जा रही है।

gyani rajak Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned