MP election 2018: राजनीति में शुचिता जरूरी, नेताओं के चयन में भी होना चाहिए परीक्षा का प्रावधान

MP election 2018: राजनीति में शुचिता जरूरी, नेताओं के चयन में भी होना चाहिए परीक्षा का प्रावधान

amaresh singh | Publish: Oct, 14 2018 08:42:59 AM (IST) | Updated: Oct, 14 2018 08:43:00 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

राजनीतिक दल भी खुद आगे आकर इस दिशा में पहल करें

जबलपुर। चुनाव की घोषणा के बाद राजनीति की चर्चा में गर्माहट भी बढ़ गई है। यह चर्चा सड़क चौराहों से निकलकर शिक्षा के गलियारों तक पहुंच गई है। बच्चों का भविष्य गढऩे वाले शिक्षक देश की राजनीति में शुचिता लाने की बात कह रहे हैं। पत्रिका टीम ने जब शिक्षकों से इस मुद्दे पर चर्चा की तो उन्होंने खुलकर अपने विचार रखे। प्राध्यापक डॉ. एडलिन अब्राहम, शशि दुबे ने कहा कि किसी संस्थान, विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मी की नियुक्ति के लिए भी इम्तिहान जैसी प्रक्रिया से होकर गुजरना पड़ता है, ताकि योग्य और ईमानदार व्यक्ति संस्थान में आ सके। राजनीति में स्वच्छता और शुचिता लाने के लिए नेताओं को भी परीक्षा से होकर गुजरने जैसा प्रावधान किया जाना चाहिए। इससे अपराधिक छवि, अयोग्य, अनपढ़ व्यक्ति के हाथ में राजनीति की डोर नहीं आ सकेगी। यह भी जरूरी है कि राजनीतिक दल भी खुद आगे आकर इस दिशा में पहल करें। अभी राजनीति में अपराधियों का बोलबाला है। हर पार्टी में अपराधिक किस्म के सांसद और विधायक है। इससे राजनीति का स्तर गिरता जा रहा है। अपराधियों और नेताओं की आपस में मिलीभगत हो गई है। इन सबमें बदलाव के लिए यह जरूरी है।


शिक्षा के स्तर में बदलाव जरूरी
डॉ. सुधा द्विवेदी, डॉ.अंबिका तिवारी, डॉ. श्रद्धा कोष्टा ने कहा कि शिक्षा के स्तर में बदलाव की जरूरत है। आज बच्चों का बचपन खत्म होता जा रहा है। कॉम्पटीशन के चलते अभिभावक २ साल की उम्र में बच्चों का स्कूलों में एडमिशन करा रहे हैं। बच्चों का बचपन छीना जा रहा है। बच्चे मानसिक रूप से कमजोर हो रहे हैं। शिक्षा की पॉलिसी में बदलाव की जरूरत है।


बेरोजगारी चिंता का विषय
प्राध्यापक पारुल जैन, सौम्या त्रिपाठी, विभा तिवारी ने कहा कि देश में बेरोजगारी की बढ़ती समस्या से आज युवा चिंताग्रस्त और भयग्रस्त है। मानसिक अवसाद के दौर से गुजर रहा है। हमें बच्चों को प्रोफेशनल शिक्षा से जोडऩा होगा। इस दिशा में सरकार को गंभीरता से कदम उठाने की आवश्यकता है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned