कुम्भ में शाही स्नान 3 मार्च को, बरगी डैम से छोड़ा जा रहा 3521 क्यूसेक पानी

नर्मदा तटों में जल स्तर ज्यादा न बढ़े इसके मद्देनजर फिलहाल चलाई जा रही है एक ही टर्बाइन

By: Manish garg

Published: 01 Mar 2020, 11:22 PM IST

जबलपुर.

बरगी डैम में इस बार जल स्तर अच्छा बना हुआ है। ऐसे में नहरों में सिंचाई के लिए पानी देने के साथ ही बिजली बनाने के लिए एक टर्बाइन भी चलाई जा रही है। ग्वारीघाट में मां नर्मदा गो कुम्भ का आयोजन किया गया है, जिसमें बड़ी संख्या में साधु-संतों से लेकर श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। इसके मद्देनजर फिलहाल डैम में एक टर्बाइन चलाई जा रही है। जिससे कि नर्मदा में जल स्तर सामान्य रहे। तीन मार्च को कुम्भ में शाही स्नान होना है। ऐसे में साधु-संतों के साथ बड़ी संख्या में श्रद्धालु भी स्नान के लिए पहुंचेंगे। इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। बरगी डैम कं ट्रोल रूम के तकनीकी विशेषज्ञों के अनुसार दो टर्बाइन चलाने की स्थिति में नर्मदा का जल स्तर ज्यादा बढ़ सकता है। इसलिए फिलहाल एक टर्बाइन ही चलाई जा रही है।

सिंचाई-पेय जल के लिए पर्याप्त पानी-

मानसून सीजन में इस बार अच्छी बारिश हुई थी। जिसके कारण डैम से अतिरिक्त पानी की निकासी के लिए लम्बे समय तक गेट खुले रखे गए थे। फिलहाल डैम लबालब है। जानकारों के अनुसार इस बार रबी सीजन में सिंचाई और गर्मी के दिनों में पेय जल आपूर्ति के लिए पर्याप्त पानी उपलब्ध है।

यह है स्थिति
बरगी डेम से अभी 35।21 क्यूसेक पानी छोड़ा जा रहा है। 1 टर्बाइन चालू है। 7416 क्यूसेक पानी छोड़ा जाता है दो टर्बाइन चलाने के लिए। 419.85 मीटर मौजूदा जल स्तर डेम का

Manish garg Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned