scriptSilt frozen in the pond, washing clothes | तालाब में जमी सिल्ट, धुल रहे कपड़े | Patrika News

तालाब में जमी सिल्ट, धुल रहे कपड़े

एहतिहासिक तालाब संग्रामसागर का रेंग रहा निर्माण कार्य, शाम होते ही अंधेरे में डूब जाता गार्डन

जबलपुर

Published: October 26, 2021 11:04:28 pm

जबलपुर. एहतिहासिक तालाब संग्रामसागर का स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के माध्यम से विकास किया जा रहा है। तालाब के बीच में बनी बारादरी को उसी दशा में विकसित करने के साथ यहां गार्डन आदि बनाया गया है लेकिन देखरेख नहीं होने से मटियामेट हो रहा है। तालाब की स्थिति यह हो गई है कि कचरा फेंकने से सिल्ट जमती जा रही है। कपड़ा धोने पर प्रतिबंध के बाद भी यहां धोबीघाट मच रहा है। गौरतलब है कि हाल ही में तालाब के विकास के लिए स्मार्ट सिटी को राशि मंजूर हुई है लेकिन वे तालाब को छोडक़र दूसरे छोर पर नया गार्डन बनाने लग गए हैं।
Silt frozen in the pond, washing clothes
एहतिहासिक तालाब संग्रामसागर का रेंग रहा निर्माण कार्य, शाम होते ही अंधेरे में डूब जाता गार्डन
गोंडवानाकालीन राजा संग्रामसागर के नाम पर बनाए गए तालाब के बीच में रानी दुर्गावती की बारादरी है। पानी के बीच में बारादरी जाने के लिए अब मदनमहल पहाड़ी की ओर से कच्चा रास्ता बना लिया गया है। इस बारादरी तक पहुंचने का कोई विशेष मार्ग नहीं है ताकि पर्यटक वहां तक पहुंच सके। इतिहासविद कहते हैं कि गोंडवाना काल में इस बरादरी में नृत्यांगनाएं अपनी कला का प्रदर्शन करती थीं। राजअतिथियों को इस जगह पर ठहराया जाता था। राजशासन समाप्त होने के बाद यह खंडहर में तब्दील हो गया। पर्यटन की दृष्टि और पुरातन महत्व को देखते हुए इसे संवारने की शुरूआत की गई है, लेकिन ये जीर्णोंद्वार कुछ ही दिन चल सका और ठंडे बस्ते में चला गया है।
गार्डन की एक लाइट भी साबुत नहीं

तालाब में बाजनामठ की ओर से लेकर स्टाप डेम तक गार्डन विकसित किया गया है। लोगों के आने-जाने के लिए पाथवे बनाया है। पाथवे की हालत यह हो गई है कि यहां लगाए गए पत्थर टूट रहे हैं। पत्थरों के किनारे क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। शाम होने के बाद यहां अंधेरा छा जाता है। बिजली व्यवस्था होने के बाद भी यहां की एक लाइट भी नहीं जलती है। ट्रांसफार्मर के समीप लगी डीपी खुली पड़ी है। तालाब के किनारे लगाई गई फैंसिंग भी टूट रही है। यहां सुरक्षा की कोई व्यवस्था नहीं होने से व्यवस्थाएं समाप्त होती जा रही हैं।
तालाब में सिल्ट और उस पर झाडि़यां

संग्रामसागर तालाब की गहराई अधिक है। सालों से सफाई नहीं होने की वजह से इसके किनारों पर सिल्ट जम गई है, जिस पर झाडि़यां उग रही हैं। सिल्ट की वजह से तालाब के चारों ओर दलदल की स्थिति बन गई है। दूसरा यह भी है कि बाजनामठ घाट की ओर से इस तालाब में कचरा फेंका जा रहा है। इससे यहां घाट पर जंगली जलीय पौधे उग गए हैं। तालाब का पानी स्थिर हो गया है, जिससे दुर्गंध आने लगी है।
कपड़े धोने पर प्रतिबंध बेअसर

बाजनामठ घाट, गार्डन की ओर घाट सहित स्टाप डेम पर कपड़े धोए जा रहे हैं, जबकि एहतिहासिक तालाब में कपड़े धोने पर रोक लगाई गई है। जानकार कहते हैं कि यहां निगरानी नहीं होने से मनमानी चल रही है। इसके लिए सुरक्षा गार्ड तैनात किया जाना चाहिए। उधर, गार्डन की रखवाली के लिए मात्र एक माली लगाया हुआ है लेकिन गार्डन में आने-जाने वालों पर कोई लगाम नहीं है।
- संग्रामसागर में निर्माण कार्य किया जा रहा है। तालाब के कैचमेंट एरिए को तैयार किया जा रहा है। बारादरी का भी जीर्णोंद्वार किया जाएगा।
रवि राव, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी, स्मार्ट सिटी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.