जबलपुर में मिला एक और कोरोना का पॉजिटिव, अब तक 6 हुई संख्या

मध्यप्रदेश में के जबलपुर में अब तक 6 पॉजिटिव मिले, 31 तक बढ़ाया लॉकडाउन

By: Manish Gite

Updated: 23 Mar 2020, 08:05 PM IST

जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर में मंगलवार को एक और कोरोना का पॉजिटिव मिला है। इसके बाद जबलपुर की लॉकडाउन की अवधि को 31 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया है। कोरोना से संक्रमित व्यक्ति जबलपुर के व्यापारी के घर काम करता था। जिनके परिवार को पहले ही आइसोलेट किया गया है। जबलपुर में अब तक 6 संक्रमित मिल चुके हैं।

उल्लेखनीय है कि सोमवार शाम 7 बजे तक मध्यप्रदेश में अब तक 6 पॉजिटिव व्यक्ति मिले हैं, जबकि 31 लोगों की रिपोर्ट आना बाकी है। जबकि अब तक 69 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

 

जबलपुर में दूसरे दिन लगातार कोरोना संक्रमित मिलने से हड़कंप मच गया। यह दूसरा व्यक्ति भी उसी व्यापारी के यहां काम करता था, जो तीन दिन पहले ही अपने परिवार के तीन सदस्यों के साथ आइसोलेट हुए हैं। मंगलवार तक व्यापारी के परिवार के तीन सदस्यों के साथ ही उन्हीं के यहां काम करने वाले दो कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके अलावा अन्य अन्य पीएचडी का छात्र पहले से ही आइसोलेट हो चुका है।

जबलपुर की आईसीएमआर लैब (icmr) से सोमवार को तीन परीक्षण रिपोर्ट्स में एक पॉजिटिव रिपोर्ट आई है। रिपोर्ट मिलने के बाद उसे विक्टोरिया अस्पताल से मेडिकल कॉलेज के आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया है। उसके संपर्क में आने वाले व्यक्तियों को भी चिन्हित किया जा रहा है।

 

लॉकडाउन 31 तक बढ़ाया
कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर जिले में लॉक डाउन की अवधि 31 मार्च तक बढ़ी । जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर भरत यादव ने जारी किये आदेश ।

 

रविवार को भी मिला था एक कर्मचारी
इससे एक दिन पहले, सराफा कारोबारी के आभूषण भंडार में काम करने वाला सेल्समैन कोरोना संक्रमित पाया गया था। कारोबारी के परिवार में तीन लोगों के बाद उसके सम्पर्क में आ गया था। कारोबारी के सम्पर्क में आए लोगों की जांच में सेल्समैन संदिग्ध मिला था। रविवार सुबह सेल्समैन को विक्टोरिया जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया था।

 

आइसोलेशन में देरी से बढ़ा खतरा
विदेश से लौटे लोगों को आइसोलेशन में देरी और संक्रमितों के सम्पर्क में आए लोगों की संख्या ज्यादा होने से वायरस फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है। दुबई से लौटने के बाद सराफा कारोबारी तीन दिन तक अपने प्रतिष्ठान में लोगों से मिलता रहा। इस दौरान उसके कर्मचारियों, ग्राहकों सहित करीब पांच सौ से ज्यादा लोगों के सम्पर्क में आने जानकारी सामने आ चुकी है। इसी प्रकार स्विट्जरलैंड से लौटे पचपेढ़ी निवासी पीएचडी छात्र का परिवार पहले घर में क्वारेंटाइन होने का दावा कर रहा था। लेकिन रविवार को पॉजीटिव छात्र के गवर्नमेंट साइंस कॉलेज में प्रोफेसर मां को भी विक्टोरिया अस्पताल में आइसोलेटेड किया गया। संक्रमण की रोकथाम के लिए विदेश से लौटे और संक्रमितों के सम्पर्क में आए लोगों की एहतियातन जांच और आइसोलेशन की कवायद के रविवार को विक्टोरिया जिला अस्पताल में करीब 10-15 युवकों ने जमकर हंगामा किया।

coronavirus What is Coronavirus?
Show More
Manish Gite
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned