बड़ा खुलासा : पश्चिम बंगाल से भी जुड़े एके-47 रायफल की तस्करी के तार

बड़ा खुलासा : पश्चिम बंगाल से भी जुड़े एके-47 रायफल की तस्करी के तार

Reetesh Pyasi | Publish: Sep, 10 2018 10:06:00 AM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

सेना का एक और जवान सिलीगुड़ी से गिरफ्तार

जबलपुर। सेंट्रल ऑर्डनेंस डिपो (सीओडी) से पाट्र्स के रूप में 70 एके-47 रायफल चुराने के मामले के तार अब पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी से भी जुड़ गए हैं। मुंगेर पुलिस ने शनिवार को सिलीगुड़ी के बागडोगरा स्थित बेंगडुबी सेना छावनी के 16 एफएडी (फील्ड एम्युनेशन डिपो) में कार्यरत नियाजुल रहमान उर्फ मोहम्मद गुलसार को गिरफ्तार किया है। गुलसार भी आर्मरर है। वह डिपो से पाट्र्स के रूप में 14 एके-47 रायफल मुंगेर निवासी हथियार तस्कर शमशेर को बेच चुका है। मोहम्मद गुलसार को मिलाकर इस मामले में मुंगेर और जबलपुर में अब तक 10 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। इधर, जबलपुर क्राइम ब्रांच को रिमांड पर लिए गए पंचशील नगर निवासी रिटायर्ड आर्मरर पुरुषोत्तमलाल के बेटे शीलेंद्र के लैपटॉप से चौंकाने वाली जानकारी मिली है।
मुंगेर पुलिस द्वारा पकड़े गए बरहद निवासी और रिटायर्ड आर्मरर नियाजुल हसन, उसके भाई हथियार तस्कर शमशेर और रिश्तेदार इमरान से पूछताछ के आधार पर टीम पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी पहुंची थी। टीम ने बेंगडुबी सेना छावनी के 16 एफएडी की डिफेंस सिक्युरिटी कोर (डीएससी) में कार्यरत मोहम्मद गुलसार को गिरफ्तार किया। उसे सिलीगुड़ी अदालत से ट्रांजिट रिमांड पर लेकर मुंगेर पुलिस लौट आई है। बताया गया कि वह सेना का जवान था। वहां से अवकाश लेकर डीएससी में शामिल हुआ था। नियाजुल के माध्यम से ही वह शमशेर के सम्पर्क में आया।

अब तक गिरफ्तारी

चार सितम्बर को जबलपुर के पंचशील नगर निवासी रिटायर्ड आर्मरर पुरुषोत्तमलाल, पत्नी चंद्रवती, बेटा शीलेंद्र व सुरेश ठाकुर। 29 अगस्त को मुंगेर निवासी इमरान, छह सितम्बर को वहीं के बरहद निवासी रिटायर्ड आर्मरर नियाजुल हसन, उसका भाई शमशेर, बहन रिजवाना अख्तर और 8 सितम्बर को सिलीगुड़ी से जवान मोहम्मद गुलसार।

लैपटॉप ने उठाया शीलेंद्र के झूठ से पर्दा
जबलपुर क्राइम ब्रांच ने सीओडी में जांच की अनुमति नहीं मिलने पर अपना फोकस रिमांड पर लिए गए आरोपितों से पूछताछ पर लगाया है। टीम को रविवार को पुरुषोत्तमलाल, उसके बेटे शीलेंद्र और सीओडी में सीनियर स्टोर मैनेजर के पद पर कार्यरत रहे जयप्रकाश नगर निवासी सुरेश ठाकुर से कई अहम जानकारी मिली। क्राइम ब्रांच ने शीलेंद्र के लैपटॉप की साइबर एक्सपर्ट से जांच कराई। इसमें पता चला कि उसका सम्पर्क मुंगेर के हथियार तस्कर शमशेर से था। उसने लैपटॉप से कई मेल और लिंक शमशेर को भेजे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned