बड़े बेदर्द हो गए हैं यहां के कुछ अस्पताल, मरीज तड़पते रहते हैं, इन्हें दया नहीं आती

जबलपुर कांग्रेस का आरोप- तड़पते मरीजों का इलाज नहीं करते निजी अस्पताल

 

By: shyam bihari

Published: 17 Sep 2020, 08:19 PM IST

जबलपुर। भाजपा कितना भी कहे कि जबलपुर में कांग्रेस सिर्फ आरोप लगाने की राजनीति करती है, लेकिन कोरोना के मुद्दे पर कांग्रेस के कुछ आरोप सिर्फ आरोप नहीं हैं। यह बात यहां के आम लोग भी कह रहे हैं। अभी कांग्रेस की जबलपुर इकाई ने एक जगह प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाया कि 'जो निजी अस्पताल सीजीएचएस कार्डधारियों को मेहमान की तरह रखते थे, वे आज तड़पते हुए मरीजों का इलाज करने से इनकार कर रहे हैं। कुछ कोरोना संक्रमित इस अवसरवादी रवैए के कारण अपना जीवन गवां चुके हैं। जिला प्रशासन ऐसे अस्पतालें के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा है।

प्रदेश कांग्रेस महामंत्री रामदास यादव के साथ दर्शन सिंह तिराहे पर जिला प्रशासन और निजी अस्पतालों के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। इस दौरान शहर कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश यादव, ब्लॉक अध्यक्ष जगतमणि चतुर्वेदी, निर्मलचंद जैन, रमेश बोहित, नेम सिंह, अशोक बर्मन, भगत राम सिंह, चमन पासी, ईश्वरीय पटेल, सुभाष पटेल, शंकर ठाकुर, सुमन जैन, सरबजीत सिंह नारंग, राजू यादव व अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।
नुक्कड़ नाटक में बताईं निजी अस्पतालों की मनमानियां
जबलपुर में ही एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से विरोध प्रदर्शन किया। इसमें कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच प्राइवेट अस्पतालों की मनमानी पर भी सवाल उठाए। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि कोरोना संक्रमण के मरीज बढ़े हैं, परंतु निजी अस्पतालों ने शुल्क बढ़ा दिया। प्रदर्शन के दौरान रिजवान अली कोटी, रघु तिवारी, सागर शुक्ला, राहुल रजक, अमित सोनकर, पंकज भोजक आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे। नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष दिनेश यादव ने कहा कि प्राइवेट अस्पतालों की ओर से जिला प्रशासन से सांठ-गांठ कर सिंडीकेट बनाकर आमजनों को लूटा जा रहा है।

BJP Congress
Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned