दोस्तों के लिए गरीब विधवा मां को छोड़कर चला गया बेटा, दोबारा नहीं लौटा, जानिए क्या है मामला

सिंहोरा थानांतर्गत नहर में नहाते समय बह गया था किशोर, 30 घंटे बाद बटरंगी माइनर में झाडिय़ों में फंसा मिला शव

By: Premshankar Tiwari

Updated: 19 Sep 2017, 01:15 PM IST

सिंहोरा। पति की असमय मौत के बाद शमशाद की जिंदगी बिल्कुल थम सी गई थी। लेकिन उसे अपने दोनों बच्चों के लिए जीना था। बेटों की बेहतर परवरिश के लिए शमशाद ने लोगों के घरों में काम करना शुरू किया। चार घरों में काम करके जो पैसे मिलते उससे अपने बेटों को पालती। लेकिन एक दिन बड़ा बेटा दोस्तों के साथ घूमने के लिए जाने का कहकर घर से निकला और फिर दोबारा लौटकर नहीं आया। बेटो के यूं अचानक चले जाने से अब शमशाद बेसुध सी हो गई है। दरअसल, सिंहोरा थानांतर्गत इम्तियाज शाह (14) अपने दोस्तों के साथ लमकना वितरक नहर में नहाने के लिए गया था। जहां, पानी के तेज बहाव बह गया। करीब 30 घंटे की खोजबीन के बाद किशोर का शव बटरंगी माइनर में झाडिय़ों में फंसा मिला।
पैर फिसला और डूब गया
टीआई संजय दुबे ने बताया कि वार्ड नंबर ४ कंकाली मोहल्ला में शमशाद शाह अपने दो बेटों इम्तियाज (मृतक) और इलियाज (10) के साथ रहती है। बड़ा बेटा इम्तियाज रविवार को अपने दोस्तों के साथ लमकना वितरक नहर में नहाने के लिए गया था। नहाने के दौरान उसका पैर अचानक फिसल गया और वह नहर के तेज बहाव में डूब गया। पुलिस और स्थानीय गोताखोरों की मदद से डूबे किशोर की तलाश शुरू की, लेकिन पानी में बहे इम्तियाज का कहीं पता नहीं चला। बेटे की मौत के बाद मां शमशाद का रो-रोकर बुरा हाल है। वह उस वक्त को कोस रही है, जब उसका बेटा दोस्तों के साथ नहर में नहाने को गया।
नहर में पानी बंद करके खोजबीन
टीआई संजय दुबे ने बताया कि नहर में बहे किशोर को ढूढऩे के लिए स्थानीय गोताखोरों की मदद से सोमवार को खुड़ावल रोड गेट पर जाल, कांटा और रस्से से नहर में खोजबीन शुरू की। नहर में पानी अधिक होने के कारण फिर दिक्कतें आने लगीं। नर्मदा विकास विभाग के अधिकारियों से नैगवां नहर से पानी को बंद कराया। मझौली बायपास से लेकर पहरेवा (करीब 6 किलोमीटर) तक नहर में गोताखोरों को उतारकर किशोर की खोजबीन कराई, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला।
झाडिय़ों में एक पैर दिखने के बाद मिला शव
किशोर के शव की खोजबीन में सोमवार को पूरे दिन पुलिस और प्रशासन का अमला पूरे दिन हलाकान रहा। शाम ५ बजे के लगभग हरसिंघी के आगे बटरंगी माइनर में झाडिय़ों में एक पैर देखा। ग्रामीणों ने इसकी सूचना सिहोरा पुलिस को दी। इस पर पुलिस परिजनों मृतक के मामा साजिद को लेकर मौके पर पहुंची और शव की शिनाख्त कराई। पंचनामा कार्रवाई के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

Show More
Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned