सोने और चांदी के आभूषणों का है ये सबसे बड़ा बाजार

यहां कभी नहीं होती मंदी

By: deepak deewan

Published: 24 May 2018, 09:18 AM IST

जबलपुर. सोने और चांदी से बने आभूषणों की कीमतों में दीपावली से आया उठाव अब तक बरकरार है। २००-५०० रुपए की बढ़त और कमी के बीच सोने की कीमत ३० हजार रुपए प्रति दस ग्राम है। जबकि जेवराती चांदी की कीमत भी ३९ हजार ५०० से ४० हजार रुपए किलो के बीच रही। पिछले साल इन्हीं दिनों सोना २८ हजार ५०० रुपए प्रति १० ग्राम और चांदी की कीमत ३४ हजार रुपए किलो थी। इतनी कीमतों के बावजूद ग्राहकी में गिरावट नहीं आई।


सबसे बड़ी मंडी
जबलपुर का सराफा बाजार महाकौशल का सबसे बड़ा बाजार है। सराफा का यह कारोबार शहर समेत ग्रामीण क्षेत्रों और आस-पास के ८-१० जिलो के लिए सबसे बड़ी मंडी है। जानकारों के अनुसार शहर में ही प्रतिदिन ८ से १० करोड़ का सोना-चांदी का कारोबार होता है। त्योहारा पर यह आकंड़ा १५ करोड़ रुपए को पार कर जाता है। सितम्बर-अक्टूबर से दाम में वृद्धि के बाद नीचे नहीं आए। दशहरा, दीपावली और वैवाहिक सीजन में दामों में तेजी जायज होती है। बीच में ग्राहकी थोड़ा कम हुई, लेकिन आभूषणों की चमक दाम के मामले में जस की तस रही।


इसलिए बनी तेजी
सोने-चांदी की कीमतों में तेजी के लिए अंतरराष्ट्रीय बाजार को सबसे अधिक जिम्मेदार माना जा रहा है। सराफा कारोबारी अनूप अग्रवाल ने बताया, पिछले साल कीमतें काफी कम रहीं। इस साल तेजी बरकरार है। पुरुषोत्तम मास में कारोबार थोड़ा कम हुआ है। कारोबारी निशांत भूरा ने कहा, सोना-चांदी की कीमतों का सीधा सम्बंध डॉलर और क्रूड ऑयल की कीमतों से भी होता है। अभी दोनों उच्च स्तर पर हैं। रुपए की कीमत कम होने से सोने-चांदी के जेवरों के दाम तेज हैं। जबकि, सराफा कारोबारी राजेश पारेख दाम में वृद्धि की वजह ग्राहकी को मानते हैं। उनके अनुसार बाजार में पूरे समय जेवरों की खरीदी होती रही। मांग अच्छी रहने से कीमत स्थिर है।

 

deepak deewan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned