मेकाटॉनिक्स, एआई डेटा साइंस के लिए छात्रों के खुले द्वार

प्रदेश का पहला जेईसी जहां होगी पढ़ाई, कड़ी जांच के बाद एआईसीटीई ने दिया एप्रूवल, एडमिशन की राह में सबसे बड़ी बाधा हुई दूर, रिव्यु कमेटी ने कई तरीकों से परखा

By: Mayank Kumar Sahu

Updated: 22 Jul 2021, 08:05 PM IST

जबलपुर।
जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में मैकेटॉनिक्स एवं डेटा एनालिसस पाठयक्रम को लेकर ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) ने भी मोहर लगा दी है। इससे अब इन दो नए विषयों की पढ़ाई की बाधा हट गई है। क्योंकि एआईसीटीई के बिना अनुमति मिले किसी भी संस्थान को कोर्स शुरू कर पाना मुश्किल था। एआईसीटीई द्वारा अप्रूवल दिए जाने के बाद मैकाटॉनिक्स और आर्टीफीशियल इंटीलेजेंसी एंड डेटा साइंस जैसे आधुनिक शुरू होने का रास्ता साफ हो गया है। कॉलेज प्रबंधन द्वारा लंबे समय से इसके प्रयास किए जा रहे हैं। यह जेईसी के लिए एक बड़ी उपलब्धि है तो वहीं प्रदेश का एेसा पहला कॉलेज होगा जहां छात्रों को आधुनिक विषय में डिग्री प्रदान की जा सकेगी।

कॉलेज के पाले में गेंद
अब कॉलेज प्रबंधन के पाले में गेंद है कि वह जल्द से जल्द कोर्स शुरू करने और क्षमता के अनुसार सीटों का निर्धारण करे। इन विषयों के लिए फैकेल्टी का चयन वर्तमान प्रोफेसरों के माध्यम से या फिर बाहर से एडॉक पर बुलाकर किया जाए ताकि इसी सत्र के दौरान छात्रों को पढ़ाई का लाभ मिल सके। विदित हो कि कॉलेज के स्थापना दिवस पर सीएम ने भी इस कोर्स को लेकर अपनी सहमति प्रदान की थी। पिछले कई माहों से कॉलेज इसके लिए प्रयासरत था। एआईसीटीई रिव्यू कमेटी ने कई मापदंडों पर कॉलेज को परखा फिर अनुमति दी।

60 सीटों से शुरुआत
जानकारों के अनुसार बीटेक इन एआई एंड डेटा साइंस तथा मेकाट्रानिक्स इंजीनियंरिंग में कोर्स में 60 सीटों के साथ शुरुआत की जा सकती है। बाद में सीटों को बढ़ाकर सौ तक लाया जा सकता है। इन विषयों का चार वर्षीय पाठयक्रम होगा। कॉलेज में अध्ययन के लिए नए कक्ष और अन्य सुविधाएं भी जल्द पूरी करने की जवाबदारी कॉलेज पर है। वहीं छात्रों के लिए भी अवसर है। इस कोर्स के लिए स्टेट इंजीनियरिंग कॉलेज में पहला जबलपुर इंजीनियिरंग कॉलेज शामिल है।
...
-एआईसीटीई से एप्रूवल मिल गया है हम उनकी रिव्यू कमेटी में पूरी तरह खरे उतरे हैं। पिछले छह माह से हम तैयारी कर रहे थे। यह हमारे लिए उपलब्धि की तरह है। छात्र इस अवसर का लाभ उठा सकते हैं।
-डॉ.आज्ञा मिश्रा, रजिस्ट्रार, जेईसी

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned