इस तरह हुनर को तराश रहे स्टूडेंट्स , बनाना चाहते हैं पहचान

इस तरह हुनर को तराश रहे स्टूडेंट्स , बनाना चाहते हैं पहचान

amaresh singh | Publish: Sep, 11 2018 03:26:20 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

यूथ किसी एक विधा में बनाना चाहते हैं पहचान

जबलपुर। कॉलेजों में एडमिशन का दौर खत्म हो चुका है और अब स्टूडेंट्स पढ़ाई में जुटने लगे हैं। कॉलेज में आने के बाद स्टूडेंट्स को पढ़ाई के अलावा भी कई मौके मिलते हैं, जिसका वह फायदा उठाकर मोटिवेशन प्राप्त कर सकते हैं। प्रतिभाओं को कॉलेज में मंच भी दिया जाता है। शहर के तमाम सभी कॉलेजों में कई तरह के एक्टिविटी क्लब होते हैं, जो विद्यार्थियों के अंदर छिपी प्रतिभाओं को निखारने में मदद करते हैं। नए विद्यार्थियों के बीच इन क्लबों में शामिल होने का दौर शुरू हो गया है। यूथ किसी एक विधा में अपनी पहचान बनाना चाहते हैं। इस कारण कॉलेजों में चलने वाले एक्टिविटी क्लब का हिस्सा बन रहे हैं। कोई हेरिटेज क्लब जॉइन कर रहा है तो कोई कल्चरल क्लब का हिस्सा बन रहा है। स्टूडेंट्स का कहना है कि इस तरह की क्लब उनके व्यक्तित्व को निखारने में खासी भूमिका अदा करेंगे। यही वजह है कि वे इन क्लब से जुड़ रहे हैं।


ट्रिपलआइटी में इस तरह के चलाए जा रहे क्लब
ट्रिपलआइटीडीएम डुमना रोड में भी स्टूडेंट्स के लिए कई तरह के क्लब चलाए जाते हैं। इनमें डांस के लिए अवतरण क्लब, म्यूजिक के लिए साज क्लब बनाए गए हैं। इसी तरह अन्य क्लब भी चलाए जा रहे हैं।
अभिव्यक्ति क्लब ठ्ठ जज्बात क्लब ठ्ठ फोटोग्राफी क्लब ठ्ठ आर्ट एंड कल्चर क्लब ठ्ठ क्रिकेट क्लब ठ्ठ कैरम क्लब ठ्ठ कैड एंड थ्रीडी प्रिंटिंग क्लब ठ्ठ ऑटोमोटिव एंड फेब्रिकेशन क्लब ठ्ठ इलेक्ट्रॉनिक्स क्लब ठ्ठ एस्ट्रोनॉमी फिजिक्स सोसाइटी क्लब ठ्ठ रोबोटिक्स क्लब रेसिंग क्लब।


शहर में मौजूद हैं अनोखे क्लब
शहर के कॉलेजों में हर तरह की क्लब मौजूद हैं, लेकिन कुछ कॉलेज हैं, जिन्होंने कुछ विशेष तरह की क्लब बनाए हुए हैं। उन्होंने कुछ विशेष नाम दिए हुए हैं। होम साइंस कॉलेज की बात की जाए तो वहां तीन तरह के क्लब अलग ही विशेषता लिए हुए हैं। प्राणी शास्त्र विभाग में सलीम अली क्लब का गठन किया गया है, वहीं केमिस्ट्री विभाग में बसु क्लब संचालित किया जाता है। इसके साथ ही केमिस्ट्री विभाग द्वारा आइंस्टीन क्लब चलाया जाता है।


हर कॉलेजों में कल्चरल क्लब
शहर के ज्यादातर सभी कॉलेजों में कल्चरल क्लब बनाए गए हैं। इसका मकसद विद्यार्थियों को मंच प्रदान करना है। जिन विद्यार्थियों में कोई प्रतिभा है, उसे प्रोत्साहन दिया जाता है। इसके अंतर्गत डांस, म्यूजिक सहित अन्य विधाओं में भाग लेने वाले विद्यार्थी शामिल होते हैं। कॉलेजों में साहित्यिक क्लब भी बनाए गए हैं। इसके अंतर्गत वे स्टूडेंट हिस्सा लेते हैं, जिनकी रुचि लिखने पढऩे में होती है।


स्टूडेंट्स ऑपरेट करते हैं इस तरह के क्लब
इस तरह की क्लब स्टूडेंट्स ऑपरेट करते हैं, लेकिन इनकी मॉनिटरिंग टीचर्स के हाथों में होती है। इस ग्रुप का मकसद ही स्टूडेंट्स में लीडरशिप लाना होता है। यही वजह है कि स्टूडेंट्स को ही इस में जोड़ा जाता है।

Ad Block is Banned