रादुविवि में शुरू होगी राम चरित मानस एवं गर्भ संस्कार पर पढ़ाई

शुरू होगा सर्टिफिकेट कोर्स, विद्या परिषद की बैठक में निर्णय, प्रदेश में पहला कोर्स शुरू करने प्रशासन का दावा

By: Mayank Kumar Sahu

Published: 15 Jun 2021, 10:54 PM IST

जबलपुर।

रानी दुर्गावती यूनिवर्सिटी में आगामी सत्र से गर्भ संस्कार एवं राम चरित मानस विषय पर सर्टीफिकेट कोर्स शुरू होंगे। नए पाठयक्रम अपने आपन में अनोखा होगा जो धर्म संस्कृति, जीवन व्यवहार से जुड़ा होगा। प्रशासन का दावा है कि ऐसे कोर्स प्रारंभ करने वाला प्रदेश का फिलहाल इकलौता विश्वविद्यालय है। मंगलवार को कुलपति प्रो.कपिल देव मिश्र की अध्यक्षता में विद्या परिषद की स्थाई समिति की बैठक हुई। आनलाइन बैठक में नए कोर्स से जुड़े मसलों पर निर्णय लिया गया।

नए छोटे पाठयक्रम शुरू किए जाएं

कुलपति प्रो.मिश्र ने कहा कि इस तरह का यह पहला पाठयक्रम है जिसमें कोई भी प्रवेश ले सकेगा। गर्भ संस्कार पाठयक्रम को योग और संगीत से जोड़कर तैयार किया गया है। इस तरह की विधाओं में वाला यह पाठयक्रम अभी तक सामने नहीं आया है। विश्वविद्यालय का प्रयास है कि नए छोटे पाठयक्रम शुरू किए जाएं ताकि युवा भी आर्कषित हों। ताकि आंगे चलकर पाठयक्रम युवाओं के लिए रोजगार का जरिया भी बन सकें।

कोड—28 के तहत नियुक्ति

बैठक में आनलाइन कॉलेजों की संबंद्धता और निरंतरता के मामलों पर चर्चा की गई। इस दौरान कॉलेजों में कोड—28 के तहत नियुक्ति और कॉलेजों में नए सत्र से प्रारंभ हो रहे कोर्स के संदर्भ में भी बातचीत की गई। इस दौरान स्वावित्तीय मद से नए-नए कोर्स प्रारंभ करने को लेकर विभागों को कहा गया। बैठक में प्रभारी कुलसचिव डॉ.दीपेश मिश्रा, परीक्षा नियंत्रण प्रो.एनजी पेंडसे, विवि प्रवेश समिति के संयोजक प्रो.शैलेष चौबे, प्रो.राकेश बाजपेयी, प्रो.रामशंकर, प्रो.धीरेंद्र पाठक, प्रो.सुरेंद्र सिंह, प्रो.अधिकेश राय, सहायक कुलसचिव डॉ.मोनाली सूर्यवंशी आदि मौजूद रहे।

Mayank Kumar Sahu Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned