मेंटेनेंस के लिए बंद होंगे ताप विद्युत गृह, जल विद्युत गृहों से होगी सप्लाई

मेंटेनेंस के लिए बंद होंगे ताप विद्युत गृह, जल विद्युत गृहों से होगी सप्लाई
मेंटेनेंस के लिए बंद होंगे ताप विद्युत गृह, जल विद्युत गृहों से होगी सप्लाई

Virendra Kumar Rajak | Publish: May, 15 2019 07:58:18 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

बारिश में कम हो जाती है विद्युत की मांग

 

प्रदेश में वर्तमान में बिजली की मांग:- 8250 से 9000मेगावॉट
बारिश के समय में बिजली की मांग:-7000 से 7500 मेगावॉट
जबलपुर. बारिश के मौसम में बिजली की मांग में कमी आती है। गर्मी के मुकाबले उपभोक्ता भी बारिश में बिजली का कम उपयोग करते हैं। घरों, दफ्तरों, कम्पनियों और कारखानों में एसी, कूलर, पंखे आदि का इस्तेमाल कम हो जाता है। यही कारण है कि बारिश शुरू होते ही प्रदेश के आठों ताप विद्युत गृह मेंटेनेंस प्रक्रिया में चले जाएंगे। यहां विद्युत उत्पादन पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा। इस दौरान प्रदेश के दस जल विद्युत गृहों से विद्युत आपूर्ति की जाएगी। जानकारी के अनुसार ताप विद्युत गृहों के मेंटेनेंस के लिए उनका क्रम निर्धारण कर दिया गया है। यह पूरी कवायद रबी सीजन के लिए की जा रही है, ताकि किसानों को मांग के अनुरूप बिजली दी जा सके।

ये हैं ताप विद्युत गृह

नाम-क्षमता
अमरकंटक-120
सतपुड़ा द्वितीय-410
सतपुड़ा तृतीय-420
सतपुड़ा चतुर्थ-500
संजय गांधी, बिरसिंहपुर-420
संजय गांधी बिरसिंहपुर द्वितीय-420
संजय गांधी बिरसिंहपुर तृतीय-500
श्री सिंगाजी-1200
कुल क्षमता-4080
(क्षमता मेगावॉट में)


बनाया जा रहा शेड्यूल
जानकारी के अनुसार सभी ताप विद्युत गृहों का मेंटेनेंस किया जाना है, इसके लिए सभी का शेड्यूल तैयार किया जाना शुरू कर दिया गया है। कब कौन से विद्युत गृह को मेंटेनेंस के लिए बंद किया जाएगा और उसे पुन: शुरू करने के बाद किसका नंबर आएगा, इसकी तैयारी की जा रही है।

ये हैं जल विद्युत गृह
नाम-क्षमता
गांधी सागर-115
पेंच-160
रानी आवंती बाई-90
बाण सागर-315
बिरसिंहपुर-20
राजघाट-45
बाण सागर द्वितीय-30
बाण सागर तृतीय-60
बाण सागर चतुर्थ-20
मढ़ीखेड़ा-60
जवाहर सागर व राणा प्रताप सागर राजस्थान-135.5
कुल क्षमता-917
(क्षमता मेगावॉट में)
खरीदी जाएगी बिजली
ताप विद्युत गृहों के मेंटेनेंस के दौरान यदि विद्युत की कमी आई, तो उन कम्पनियों से बिजली खरीदी जाएगी जिनसे ट्रांसमिशन कम्पनी ने अनुबंध कर रखा है। वहीं पंजाब को दी जाने वाली बिजली भी वापस ली जा सकती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned