SC का बड़ा फैसला, अब निजी कॉलेजों के प्रोफेसरों की रिटायरमेंट उम्र भी होगी 65, देखें वीडियो

Faiz Mubarak

Publish: May, 09 2019 04:37:08 PM (IST) | Updated: May, 09 2019 04:37:09 PM (IST)

Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जबलपुरः मध्यप्रदेश में प्राइवेट कॉलेजों के प्रोफेसर भी अब राज्य सरकार के कॉलेजों की तरह ही 65 साल तक नौकरी कर सकेंगे। सुप्रीम कोर्ट के फैसले से इसकी रास्ता तैयार हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने मध्यप्रदेश हाईकोर्ट के तीन जजों की लार्जर बेंच के फैसले को निरस्त कर दिया। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एल नागेश्वर राव और जस्टिस एमआर शाह की बेंच ने राज्य सरकार को इस संबंध में निर्देश दिए हैं। दरअसल निजी महाविद्यालय के प्रोफेसर आरएस सोहाने सहित अन्य ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। जिसमें कहा गया था कि प्रदेश के शासकीय सेवक अधिनियम 1967 में 1998 में संशोधन किया गया है। इसके तहत सरकारी कॉलेजों के प्रोफेसरों की रिटायरमेंट की उम्र 60 से 62 साल कर दी गई है। प्राइवेट और अनुदान प्राप्त कॉलेजों के शिक्षकों को भी इसका लाभ दिया गया। जिसपर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने फैसला उनके पक्ष में दिया। देखें खबर से संबंधित वीडियो...।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned