कोरोना को हल्के में लेकर पूरे परिवार को संक्रमण के जबड़े में फंसा रहे

जबलपुर में प्रशासन की सख्ती अब नजर नहीं आ रही, विशेषज्ञों की नसीहतों को किया जा रहा नजरअंदाज

 

By: shyam bihari

Published: 21 Sep 2020, 08:23 PM IST

केस-1 नर्मदा रोड निवासी 40 वर्षीय कारोबारी को हल्का बुखार और कमजोरी महसूस हुई। एहतियातन कोविड टेस्ट कराया। रिपोर्ट पॉजिटिव आई। संदिग्ध लक्षण नजर आने पर परिवार के अन्य सदस्यों की जांच कराई गई तीन और सदस्य संक्रमित मिले।
केस-2 : एक जनप्रतिनिधि के परिवार में पहले एक बुजुर्ग सदस्य की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई तो अन्य सदस्य क्वारंटीन हो गए। कुछ दिन के अंतराल में एक-एक कर पांच सदस्यों में संदिग्ध लक्षण उभरे। जांच कराने पर सभी कोरोना पॉजिटिव मिले।
केस-3 रांझी निवासी एक पैरामेडिकल स्टाफ जिस अस्पताल में काम करता था, वहां एक मरीज कोविड पॉजिटिव मिला। उसके दो दिन बाद सम्बंधित मरीज के सम्पर्क में आने वाले स्टाफ के सैम्पल लिए गए। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर परिजन की जांच कराई। इसमें तीन सदस्य कोरोना संक्रमित मिले।

जबलपुर। कोरोना जबलपुर में बेकाबू हो गया है। कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेसिंग का पालन करने, आवश्यक होने पर ही बाहर निकलने की विशेषज्ञों की नसीहत के बाद भी कई लोग बेफिक्र घूम रहे हैं। इस लापरवाही से कोरोना उनके घर तक पहुंच रहा है। शहर में कोविड केयर सेंटर में लगातार ऐसे मरीज पहुंच रहे हैं, जिनके परिवार के आधे से ज्यादा सदस्य कोरोना संक्रमित हैं। होम आइसोलेशन में भी ऐसे परिवार बढ़ रहे हैं, जिनके घर से बाहर जाने वाले सदस्य के संक्रमित होने के बाद अन्य सदस्य कोरोना संक्रमित हुए हैं। शहर में कोरोना संक्रमण के तेजी फैलाव के बीच संदिग्ध लक्षणों की अनदेखी भी परेशानी बढ़ा रही है। जानकारी के अनुसार सिविल लाइंस स्थित एक बैंक के कर्मचारी को दो-तीन दिन से सर्दी-खांसी थी। वह ऑफिस आता रहा। तीसरे दिन तेज बुखार आने पर जांच में कोविड पॉजिटिव मिला। उसके बाद बैंक का स्टाफ जांच में संक्रमित मिला। यही स्थिति विजय नगर स्थित एक अन्य बैंक शाखा में बनी। एक दवा कारोबारी बुखार आने पर बिना जांच के रोग प्रतिरोधक दवा का सेवन करता रहा। कुछ दिन बाद स्थिति गम्भीर होने पर अस्पताल गया। जांच में कोरोना पॉजिटिव निकला। इसके बाद दुकान के अन्य कर्मचारी भी संक्रमित मिले। शहर में कोविड केयर सेंटर में 20 से ज्यादा परिवारों के चार या उससे ज्यादा संक्रमित सदस्य भर्ती हैं।

इनका रखें ध्यान
- अति आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें
- सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें
- नाक-मुंह को ट्रिपल लेयर मास्क से कवर करें, फेस सील्ड का भी उपयोग करें।
- बार-बार हाथ धोएं, सही तरीके से सेनेटाइज करें
- बच्चे और वृद्ध घर से बाहर न जाएं
- सर्दी-बुखार या संदिग्ध लक्षण हो तो तुरंत जांच कराएं।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned