यहां के शिक्षक निकले लापरवाह, प्रशासन को वेतन काटना पड़ा

जबलपुर जिले के कई शिक्षक अपने लापरवाही से कार्रवाई के दायरे में आ गए

शिक्षक आवासीय प्रशिक्षण में पहुंचे ही नहीं

जबलपुर। आमतौर पर शिक्षकों को समय का पाबंद माना जाता है। यह भी माना जाता है वे अपने आचरण से आने वाली पीढ़ी को सही रास्ता दिखाते हैं। लेकिन, जबलपुर जिले के कई शिक्षक अपने लापरवाही से कार्रवाई के दायरे में आ गए। प्रशासन ने ऐसे शिक्षकों का वेतना काटने का निर्देश जारी किया है। इस मामले में शिक्षक आवासीय प्रशिक्षण से अनुपस्थित सम्भाग के 146 शिक्षकों का पांच दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए गए हैं।

'नो वर्क नो पेमेंट

विभाग ने 'नो वर्क नो पेमेंट की तर्ज पर शिक्षकों का वेतन काटने का निर्णय लिया है। शासन स्तर से जारी निर्देशों के मद्देनजर संयुक्त संचालक लोक शिक्षण कार्यालय से वेतन कटौती का प्रस्ताव सम्भाग के सभी जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय को भेजा गया है। पांच दिवसीय शिक्षक आवासीय प्रशिक्षण में सम्भाग के 600 से ज्यादा शिक्षकों को शामिल होना था। जबलपुर सम्भाग से 146 शिक्षक प्रशिक्षण में शामिल नहीं हुए। इन शिक्षकों का पांच दिन का वेतन काटने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारी को दिए गए हैं। इसमें जबलपुर के 17 शिक्षक शामिल हैं।

जबलपुर सम्भाग में भी एनसीईआरटी पाठ्यक्रम लागू
स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से स्कूलों में एनसीईआरटी पाठ्यक्रम लागू किया गया है। शिक्षकों को पाठ्यक्रम से जुड़ी जानकारी सहित, प्रश्न पत्र निर्माण आदि से अवगत कराने के लिए जबलपुर सम्भाग में 11वीं कक्षा में अर्थशास्त्र, कॉमर्स और इतिहास के शिक्षकों को सम्भाग स्तरीय सेवाकालीन प्रशिक्षण रानी दुर्गावती कन्या स्कूल, पं. लज्जा शंकर झा उत्कृष्ट विद्यालय, महारानी लक्ष्मी बाई कन्या स्कूल और यश नर्सरी स्कूल में प्रशिक्षण दिया गया। प्रत्येक शिक्षक को निर्धारित शेड्यूल के मुताबिक 9 से 13 दिसंबर तक प्रशिक्षण प्राप्त करना था।

इन जिलों के शिक्षकों पर कार्रवाई
जबलपुर के 17, सिवनी के 12, बालाघाट के 17, छिंदवाड़ा के 52, डिंडोरी के छह, नरसिंहपुर के चार, कटनी के 13 और मंडला के 25 शिक्षकों पर कार्रवाई की गई है।

shyam bihari
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned