टे्रन से किशोरी का अपहरण, फिर पुणे में छिपा

जीआरपी ने किया गिरफ्तार, दस हजार रुपए का था इनाम

जबलपुर, परिवार के साथ पवन एक्सप्रेस में यात्रा कर रही एक किशोरी का डेढ़ साल पूर्व एक युवक ने अपहरण कर लिया। आरोपी ने किशोरी का अपहरण उस वक्त किया, जब ट्रेन मुख्य रेलवे स्टेशन पहुंची थी। डेढ़ साल तक पतासाजी करने पर जानकारी लगी कि आरोपी किशोरी के साथ पुणे में रह रहा है। सूचना पर जीआरपी टीम वहां पहुंची। किशोरी को दस्तयाब कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी पर दस हजार का इनाम भी था।

जीआरपी थाना प्रभारी मंजीत सिंह ने बताया कि बिहार मोतिहार निवासी एक परिवार हाल में मुंबई में रहता है। 6 मई 2018 को वे गाड़ी संख्या 11061 पवन एक्सप्रेस के जनरल कोच में यात्रा कर मुंबई से मोतिहार जा रहे थे। इस दौरान 13 वर्षीय किशोरी ट्रेन के जबलपुर पहुंचने पर संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई। जीआरपी ने पिता की शिकायत पर प्रलोभन देकर अपहरण कर प्रकरण दर्ज किया।पुत्र को दिया जन्म, फिर भी नाबालिगजांच के दौरान जीआरपी को पता चला कि किशोरी पुणे में बृज बिहारी कनौजिया के साथ रह रही है। सूचना पर टीम वहां पहुंची। बृज बिहारी को गिरफ्तार कर लिया। बृज ने किशोरी से शादी कर ली थी और उनका एक वर्ष का बच्चा भी है। जीआरपी ने आरोपी के खिलाफ दुराचार और पाक्सो एक्ट की धाराएं भी मामले में बढ़ाई। बच्चे का डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा। एसपी रेल सुनील जैन ने टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

virendra rajak Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned