हत्या के प्रयास में गिरफ्तार आरोपी बचने के लिए खासने लगा

-विक्टोरिया में मुलाहिजा के लिए ले जाया गया था, डॉक्टरों ने सेम्पल जांच के लिए भेजा

By: santosh singh

Published: 18 Apr 2020, 11:26 AM IST

जबलपुर। खमरिया पुलिस द्वारा हत्या के प्रयास में फरार आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने से पहले उसके पैंतरे से जूझना पड़ा। आलम ये रहा कि 10.30 बजे विक्टोरिया पहुंचाए गए इस आरोपी को जेल भेजने में पुलिस को पूरा दिन लग गया। आखिर में उसके खांसने के चलते विक्टोरिया अस्पताल के चिकित्सकों ने सैम्पल लिया और फिर ये कहकर जेल में दाखिल करने की सलाह दी कि वह नॉर्मल है।
चार महीने से था फरार
खमरिया टीआई के मुताबिक आठ अगस्त 2019 को मटामर निवासी गोपाल उर्फ इंद्रजीत दास पर चार लोगों ने जानलेवा वार कर दिया था। मामले में आरोपी श्रीकांत, रविकांत व नित्तू विश्वकर्मा को डुमना पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर ली थी। एक आरोपी नीरज समद तभी से फरार था। नीरज ठेकेदारी करता है। लॉकडाउन में वह घर आया हुआ था। सूचना पर शुक्रवार सुबह आठ बजे पुलिस ने उसे दबोच लिया।
छोडऩे के लिए पुलिस पर दबाव बनाया-
सूत्रों के मुताबिक पहले उसे छोडऩे का दबाव थाने में बना। इसके बाद उसे 10.30 बजे विक्टोरिया में मुलाहिजा के लिए ले जाया गया। वहां उसके पक्ष में कुछ अधिवक्ता भी पहुंचे। जब बात नहीं बनी तो अचानक नीरज खासने लगा। वह लगातार खासता रहा। विक्टोरिया अस्पताल के चिक्त्सिक ने उसे कोरोना का संदिग्ध बता भर्ती करने की सलाह दी।
शाम तक चिकित्सकों के बदल गए सुर
पुलिस ने लिखित में देने को कहा तो चिकित्सक बैकफुट पर आ गए। इसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेजने का आदेश जारी हुआ। जेल दाखिला से पहले विक्टोरिया के चिकित्सकों ने उसे फिर बुलाया। इस बार उसका सेम्पल लेकर कोरोना जांच के लिए भेजा गया। फिर शाम 5.30 बजे ये कहते हुए जेल में दाखिल करने के लिए बोल दिया कि यह पूरी तरह से नॉर्मल है।

 Victoria Hospital
IMAGE CREDIT: patrika

उधर, सर्दी-खांसी का पीडि़त विक्टोरिया से फरार
कोरोना संक्रमण के बीच विक्टोरिया के जनरल वार्ड में भर्ती सर्दी-खासी से पीडि़त एक मरीज शुक्रवार को बिना डिस्चार्ज हुए भाग गया। दोपहर में अस्पताल प्रशासन की ओर से पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना दी गई। इसके बाद अधारताल पुलिस उसकी खोज में उतरी। अधारताल थानांतर्गत न्यूरामनगर निवासी रितिक कोरी (20) को गुरुवार की रात आठ बजे सर्दी-खासी के चलते विक्टोरिया में भर्ती कराया गया था। उसका इलाज डॉ. संजय जैन कर रहे थे।
जांच के बाद फिर दी गई छुट्टी-
शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे वह बिना छुट्टी हुए फरार हो गया। इसकी सूचना 11.55 बजे पुलिस कंट्रोल रूम को दी गई। इसके बाद अधारताल पुलिस उसकी तलाश में घर पहुंची। वहां रितिक कोरी मिला। फिर उसे विक्टोरिया पहुंचाया गया। अधारताल सीएसपी हरिओम शर्मा के मुताबिक रितिक को डॉक्टर ने दवा देकर छुट्टी दे दी।

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned