बड़ी मुश्किल में है यहां का अन्नदाता

जबलपुर जिले में सुबह गेहूं से भरी ट्रॉली लेकर पहुंचते हैं तो शाम को आता है नम्बर

By: shyam bihari

Published: 23 Apr 2020, 09:06 PM IST

जबलपुर. कोरोना के कहर के बीच जबलपुर जिले के कुछ हिस्सों के किसान मुश्किल में हैं। यहां के खरीदी केंद्र सायलो बैग हरगढ़ में टै्रक्टरों की लाइन कम होने का नाम नहीं ले रही है। किसान सुबह चार बजे से गेहूं से भरी टै्रक्टर-ट्रॉली लेकर पहुंच रहे हैं। लेकिन, बमुश्किल ही तौल हो पा रही है। दिनभर धूप में रहकर किसान को अपनी बारी आने का इंतजार करना पड़ रहा है। केंद्र में पीने के पानी के भी इंतजाम नहीं किए गए हैं।

खरीदी केंद्र हरगढ़ पहुंचे किसान प्रमोद पटेल ने बताया कि वे 65 क्विंटल गेहूं लेकर सुबह छह बजे से लाइन में लगे हैं। टोकन नम्बर 115 मिला है। ऐसे में उनकी उपज की तौल शाम को पांच बजे के लगभग हो पाएगी। ग्राम डाबू से आए सुखचैन पटेल 80 क्विंटल उपज लेकर आए थे, लेकिन अभी तक उनका नंबर नहीं आया। इसी तरह चिलचिलाती धूप में लाइन में लगे सैकड़ों किसान अपनी उपज की कॉल का इंतजार कर रहे थे। बल्लियों में बंधी रस्सियों के बीच छह लाइनों में करीब 250 से अधिक ट्रैक्टर-ट्रॉलियां खड़ी थीं। दो सौ मीटर दूर बने इलेक्ट्रॉनिक कांटे में ट्रैक्टर के साथ उपज की तौल होने के बाद डम्पिंग प्वाइंट पर गेहूं गिराया जाता है। यहां करीब 50 से अधिक ट्रैक्टर-ट्रालियां पहले से लाइन में खड़ी थीं।
हरगढ़ साइलो बैग में करीब 12 समितियों के 25 खरीदी उप केंद्र बनाए गए। दो इलेक्ट्रॉनिक कांटों पर दो पारियों में होने वाली खरीदी में करीब 300 ट्रॉलियों की तौल हो पाती है। अगर कुछ किसान बच गए तो पांच के बाद उन्हें सात बजे तक अपनी पारी का इंतजार करना पड़ता है।

shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned