तेज रफ्तार बस ने मासूम को कुचला

तेज रफ्तार बस ने मासूम को कुचला

sudarshan ahirwa | Publish: Mar, 14 2018 08:43:31 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

गुस्साए ग्रामीणों ने एनएच पर लगाया जाम, धनगवां गांव की घटना

सिहोरा. धनगवां. सड़क किनारे खड़ी एक मासूम को तेज रफ्तार बस ने कुचलते हुए निकल गई, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। हादसा बुधवार शाम साढ़े पांच बजे एनएच-७ घनगवां गांव के पास हुआ। मासूम की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने सड़क पर शव रखकर एनएच-7 पर जाम लगा दिया। ग्रामीण तत्काल पीडि़त परिवार को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। ग्रामीणों का गुस्सा तब और बढ़ गया,जब हादसे के एक घंटे बाद भी मौके पर पुलिस नही पहुंची। एनएच पर जाम लगने से सिहोरा और कटनी तरफ वाहनों की लम्बी लाइन लग गई।


जानकारी के मुताबिक ग्राम धनगवां निवासी चिप्पा उर्फ संतोष पटेल की छह वर्षीय बेटी सुहानी शाम 5.30 बजे के लगभग रोड किनारे खड़ी थी। उसी समय जबलपुर से कटनी तरफ जा रही तेज रफ्तार तिवारी ट्रांसपोर्ट की बस एमपी 20 पीए 0359 ने मासूम को कुचल दिया। बस का अगला चाक मासूम के सिर के ऊपर से निकल गया और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना के बाद बस तेजी से कटनी तरफ भाग गई।


रोड पर लगाया जाम, जमकर प्रदर्शन
घटना की जानकारी लगते ही बड़ी संख्या में ग्रामीण घटना स्थल पर जमा हो गए और शव रखकर पीडि़त परिवार को मुआवजा और रोड पर ब्रेकर बनाने की मांग को लेकर जाम लगा दिया। घटना के करीब एक घंटे तक पुलिस के नही पहुंचने से आक्रोशित ग्रामीणों ने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। एसडीएम उमा माहेश्वरी, नायब तहसीलदार अरुण भूषण दुबे, सिहोरा टीआई संजय दुबे घटनास्थल पहुंचे और ग्रामीणों को समझाया, लेकिन ग्रामीण कुछ भी सुनने तैयार नही थे। करीब दो घंटे तक एनएच पर जाम लगा रहा। प्रशासनिक अधिकारी ग्रामीणों को समझाने में लगे थे।


वाहनों की लगी कतार, बाइपास से निकाले वाहन
एनएच-7 पर जाम लगने से दोनों तरफ बस, ट्रक सहित अन्य वाहनों की करीब पांच किलोमीटर लम्बी लाइन लग गई। पुलिस ने कई वाहनों को बाइपास से बाहर निकाला।


अंडर ब्रिज की मांग पर अड़े
ग्रामीण धनगवा गांव से निकलने वाले तीन किलोमीटर लम्बे फोरलेन बाइपास के पास लम्बे समय से अंडरब्रिज निर्माण की मांग कर रहे हैं, साथ ही एनएच पर धनगवां गांव में स्टॉपर रखने और भारी वाहनों की गति सीमा कम करने की मांग करने लगे। प्रशासन और ग्रामीणों के बीच चर्चा चल रही थी।

 

Ad Block is Banned