OFFERS : स्टॉक क्लीयरेंस के कारण इस मंथ कई ऑफर्स

स्टॉक क्लीयर करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन मार्केट में मिलेंगे कई डिस्काउंट

By: abhishek dixit

Published: 14 Mar 2018, 06:00 AM IST

जबलपुर. अब लोगों को शॉपिंग करने का एक बहाना चाहिए। यह बहाना उन्हें सेल और ऑफर्स के साथ मिले, तो एक्साइटमेंट और बढ़ जाता है। शहर में अक्सर लोगों को इस बात का इंतजार रहता है कि उन्हें किस तरह से शॉपिंग के मौके मिल सकते हैं। जल्द ही वित्तीय वर्ष खत्म होने वाला है। ऐसे में सिटी मार्केट में स्टॉक क्लीयरेंस की कवायद भी शुरू हो जाएगी। इसकी शुरुआत नवरात्रि के दिनों से होगी, जहां लोगों को तरह-तरह के डिस्काउंट देने की तैयारी शहर में चल रही है। ऑनलाइन मार्केट में जहां इसकी शुरुआत अभी से हो चुकी है, वहीं ऑफलाइन मार्केट में नवरात्रि से ही शुरू हो जाएगा, जो कि 31 मार्च तक जारी रहेगा। बात की जाए ऑनलाइन मार्केट की तो यहां अभी से ईयर एंडर के कॉन्सेप्ट के चलते डिस्काउंट की बहार छा चुकी है। ऑनलाइन मार्केट में क्लोदिंग से लेकर इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स में ढेऱों ऑफर्स मिल रहे हैं। इसके विपरीत ऑफलाइन मार्केट में अभी ऑफर्स का बहार आने में वक्त है। यहां नवरात्रि के शुरू होते ही ब्रांडेड कपड़ों से लेकर, ज्वैलरी, इलेक्ट्रॉनिक के क्षेत्र में ऑफर्स की कवायद शुरू की जाएगी ।

 

कैशबैक के ऑप्शन
मार्केट चाहे ऑनलाइन हो या फिर ऑनलाइन हर किसी में अब खरीदारी के दौरान लोग डिजिटल पैमेंट को सलेक्ट करना पसंद करते हैं। ऐसे में ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड की शॉपिंग के लिए कैशबैक के ऑप्शन भी लोगों को लुभा रहे हैं। पेटीएम और गिफ्ट वाउचर्स की खरीद पर भी लोगों को 30 टू 40 परसेंट तक का कैशबैक मिल पाएगा।

ऑनलाइन में इस तरह के डिस्काउंट
क्लोदिंग- 20-70%
कॉस्मेटिक्स- 10-25%
डेली नीड्स- 05-20%
ज्वैलरी- 25-30%
इलेक्ट्रॉनिक्स- 30-40%

मार्केट में अभी कपड़ों की खरीदारी को नेकर रुझान लोगों को कम ही है, लेकिन मार्च के लास्ट में कस्टमर्स खरीदारी बढ़ा देते हैं। कुछ ऑफर्स चलाए जाएंगे।
सुधीर मेहता, संचालक

इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स में नवरात्रि शुरू होती ही ऑफर्स भी चलाए जाने लगते हैं। इसमें लोगों को खरीदारी में ईयर एंडर की सेल का भी फायदा मिल सकेगा।
प्रवीण ठाकुर, संचालक

abhishek dixit
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned