ये हैं खेत के खिलाड़ी एग्रो इनोवेटर

युवा किसान मनवा रहे अपनी खेती के अंदाज का लोहा, जबर्दस्त समर्पण और उन्नत तकनीक के दम पर कर रहे जबर्दस्त उत्पादन 

By: Lali Kosta

Published: 02 Jan 2016, 12:32 PM IST


प्रभाकर मिश्रा जबलपुर। किसी ने एमए किया तो कोई एमबीए करके खेती का बेहतर प्रबंधन कर रहा है। शहपुरा-पाटन के खेतों में 25 से 35 साल तक के युवा किसान उन्नत तकनीक के साथ जबर्दस्त मेहनत और अपने समर्पण भाव से पसीना बहाकर उत्पादन के मामले में अपना लोहा मनवा रहे हैं। 
उनका लक्ष्य अधिकतम उत्पादन व बड़ा मुनाफा तो है ही, जैविक खेती कर वे लोगों को रसायनों के दुष्प्रभावों से बचाने के लिए भी प्रयास कर रहे हैं। वे रेडियो, टीवी के कार्यक्रमों से तो बेहतर खेती के गुर सीखते ही हैं। समय-समय पर कृषि वैज्ञानिकों व कृषि विभाग के जानकारों से मार्गदर्शन भी लेते हैं। खेती के युवा खिलाडि़यों ने पुरातन खेती और उन्नत तकनीक के जबर्दस्त मिश्रण से गुणवत्ता के साथ अधिकतम उत्पादन का नया फॉर्मूला गढ़ दिया है।
patrika
युवा किसान संदेश शुक्ला, केवलारी
बीमारियों से बचाने कर रहे जैविक खेती-रसायनों के उपयोग ने पंजाब के खेतों की उर्वरा शक्ति क्षीण कर दी। नतीजा किसानों ने उर्वरकों का उपयोग बढ़ा दिया। इसके दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं। रसायनों का उत्याधिक उपयोग कर उगाए जा रहे अनाज का सेवन कर लोग कैंसर जैसी घातक बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। इसे देखते हुए बेलखेड़ा के पास स्थित केवलारी गांव के किसान संदेश शुक्ला ने जैविक खेती शुरू कर दी। महज 28 साल के युवा किसान संदीप हर साल जैविक खेती का रकबा बढ़ाते जा रहे हैं। 
farmer radio

एेसे मिली प्रेरणा
संदीप जागरूक किसान हैं। वे रेडियो से लेकर टीवी पर किसानों के लिए आने वाले कार्यक्रम देखते हैं। कृषि अधिकारियों व कृषि वैज्ञानिकों के संपर्क में रहते हैं। कृषि विशेषज्ञों से प्रेरित होकर युवा किसान ने 5 साल पहले 2 एकड़ जमीन से जैविक खेती की शुरुआत की। बुवाई से पहले खेत से रसायनों का असर खत्म करने नीम, अकौआ, गौमूत्र और मठा युक्त कीटनाशक तैयार कर उसका छिड़काव कराया। 
प्रति एकड़ 25 लीटर मठा युक्त कीटनाशक डाला गया। जमीन को जैविक खेती के लिए तैयार कर बुवाई की। धीरे-धीरे 5 एकड़ में जैविक खेती करने लगे। उनके पास 40 एकड़ जमीन है। वे हर साल जैविक खेती के लिए जमीन का रकबा बढ़ाते जा रहे हैं। जैविक खेती कर इस बार 5 एकड़ में तुअर फसल उगा चुके हैं।

Show More
Lali Kosta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned