इस बार बिजली बिल काट सकता है आपकी जेब, जाने कैसे

इस बार बिजली बिल काट सकता है आपकी जेब, जाने कैसे
इस बार बिजली बिल काट सकता है आपकी जेब, जाने कैसे

Virendra Kumar Rajak | Updated: 15 May 2019, 12:00:32 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

स्लैब का खेल काट सकता है उपभोक्ताओं की जेब

 

जबलपुर. बिजली उपभोक्ता इस माह स्लैब के खेल के जाल में फंस सकते हैं। इससे बिजली बिल में उनकी जेब पर चपत भी लग सकती है। कारण है शहर में कई स्थानों पर अब भी मीटर रीडिंग व बिल वितरित न होना। मध्य प्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के अथक प्रयास के बावजूद मीटर रीडिंग करने वाली ठेका कम्पनी के कर्मचारी मनमानी कर रहे हैं। इससे उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई बार शिकायत के बाद भी अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।
ये है नियम
विद्युत नियामक आयोग के स्पष्ट निर्देश हैं कि उपभोक्ताओं को केवल 30 दिन का ही बिजली बिल दिया जाए। नियम के अनुसार उपभोक्ता के मीटर की रीडिंग में देरी होने पर बिल को संशोधित कर उसे तीस दिन का ही बिल भेजना चाहिए। शेष खपत अगले माह के बिल में जोडऩा चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है।
केस- 01
स्थान- कालीमठ
उपभोक्ता- मनीष कुमार
देरी- 03 दिन
विवरण- एक माह में मीटर रीडिंग न होने से बिजली खपत 100 यूनिट के स्लैब से निकलकर 101 के स्लैब में पहुंच गई। इससे उन्हें अधिक बिजली बिल जमा करना पडेग़ा।
केस- 02
स्थान- मदन महल
उपभोक्ता- एमसी गुप्ता
देरी- 08 दिन
विवरण- 30 दिन के अंतराल में होने वाली रीडिंग 40 दिन बीत जाने के बाद भी नहीं हुई। इससे उनका का स्लैब बदल गया। इससे उन्हें भी अधिक बिल चुकाना पडेग़ा।
बिजली की खपत
सामान्य घरों में- 70 से 90 यूनिट प्रतिमाह
पंखा, फ्रिज, टीवी, मिक्सर आदि का उपयोग करने वाले वाले घरों में- 150 से 200 यूनिट प्रतिमाह
एक एसी, फ्रिज व हीटर वाले घर- 210 यूनिट से अधिक प्रतिमाह
घरेलू कनेक्शन वाले उपभोक्ता
शहर- 273541
देहात- 1885 99
बिजली की मांग मेगावॉट में
कहां- सामान्य दिनों में- गर्मी के दिनों में
जिले में - 204 - 320
शहर में - 12 9 - 220
देहात में - 75 - 100
वर्तमान टैरिफ प्लान
यूनिट- राशि प्रति यूनिट रुपए
0 से 30 यूनिट- 3.10
0से 50 यूनिट- 3.85-50 रुपए शहर, 35 रुपए ग्रामीण
51 से 10 यूनिट- 4.70-90 रुपए शहर, 65 रुपए ग्रामीण
101से 300 यूनिट- 6.00-20 रुपए शहर, 17 रुपए ग्रामीण
कम्पनी को फायदा उपभोक्ता को नुकसान
बिजली कम्पनी उपभोक्ताओं से बिल वसूली खपत टैरिफ और स्लैब के आधार पर करती है। यदि किसी उपभोक्ता के यहां एक महीने में 0 से 30 यूनिट बिजली की खपत है तो उससे कम्पनी 3.10 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से वसूली करेगी। यदि किसी उपभोक्ता के यहां एक महीने में 300 यूनिट से ज्यादा बिजली की खपत होती है तो उससे 6.10 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से बिल वसूल किया जाएगा। इस हिसाब से खपत बढ़ते ही स्लैब बढ़ जाता है, जिसकी वजह से उपभोक्ताओं पर भार पड़ता है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned