recruitment : इस हाईकोर्ट में निकली है बंपर भर्ती, घर बैठे दे सकेंगे आवेदन

आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर

By: deepankar roy

Published: 09 Dec 2017, 12:01 PM IST

जबलपुर। बेरोजगार युवाओं के लिए सरकार नौकरी के नए अवसर देने जा रही है। मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में ग्रुप-डी के पांच सौ से अधिक पद स्वीकृत हुए है। इन पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। खास बात ये है कि इन पदों पर भर्ती के लिए उम्मीदवार घर बैठे आवेदन कर सकेंगे। जिसकी आवेदन प्रकिया शुरू हो चुकी है, जिसकी अंतिम तारीख ३१ दिसम्बर निर्धारित की गई है।

739 पद
हाईकोर्ट जबलपुर द्वारा ग्रुप डी के लिए ७३९ भर्तियां विभिन्न पदों के लिए होंगी। इसमें वाहन चालक से लेकर भृत्य, चौकीदार, जलवाहक, माली, स्वीपर जैसे पदों के लिए आवेदन स्वीकारें जाएंगे।

इनके लिए दोगुना शुल्क
ग्रुप डी के इन पदों पर भर्ती के लिए आवेदन शुल्क निर्धारित कर दिया गया है। आवेदन शुल्क मप्र के बाहरी नागरिकों के लिए 200 रुपए और मप्र के निवासी और दिव्यांगों के लिए १०० रुपए का शुल्क रखा गया है।

इस पेज पर करें क्लिक
विभिन्न पदों के लिए आवेदन करने वाले कैंडिडेट्स डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू. एमपीऑनलाइन.जीओवी.इन पर लॉग इन करके होम पेज पर जा सकते हैं। एमपी पोटर्ल के साथ घर बैठे भी लोग फॉर्म भर सकते हैं। इसके लिए आवेदन ऑप्शन पर क्लिक करके एमपीहाईकोर्ट के लोगो पर क्लिक करें। इसके बाद एप्लिकेशन एंड सर्विस के ऑप्शन पर जाकर आवेदन की लिंक पर क्लिक करें। आवेदन करने के पहले एडवर्टिजमेंट के नियमों को पढ़े और फिर ऑनलाइन एप्लाय करने के लिए क्लिक करें।

इस तरह भरें फॉर्म
सम्बंधित लिंक पर जाने के बाद आवेदक को अपना रंगीन स्केन फोटो हस्ताक्षर सहित अटैच करना होगा। इसके बाद फोटो के प्रिंट को जेपीजे फॉर्मेट में अपलोड करें। फॉर्म में मांगी गई सभी तरह की जानकारी भरें और फिर फॉर्म सब्मिट करें। सब्मिट करने के बाद आवेदक का फॉर्म नम्बर प्राप्त होगा। इसके बाद पेमेंट ऑप्शन के लिए क्रेडिट, डेबिट या इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा का फायदा उठा सकते हैं।

महत्वपूर्ण तारीख
31 दिसम्बर, आवेदन करने की अंतिम तिथि
03 जनवरी, आवेदन में गलती सुधार तिथि
28 जनवरीए स्क्रीनिंग
25 फरवरी, इंटरव्यू

Show More
deepankar roy Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned