वैशाख पूर्णिमा 7 मई को, घर बैठे ऐसे मिलेगा नर्मदा गंगा स्नान का पुण्यफल

वैशाख पूर्णिमा 7 मई को, घर बैठे ऐसे मिलेगा नर्मदा गंगा स्नान का पुण्यफल

 

By: Lalit kostha

Updated: 01 May 2020, 01:17 PM IST

जबलपुर। वैशाख पूर्णिमा पर सात मई को घरों में ही स्नान, दान-पुण्य किया जाएगा। वर्ष में यह पूर्णिमा श्रेष्ठ होती है। इसी तिथि में वैशाख स्नान एवं भगवान शिव के मंदिर में लगी जल धारा को पूर्ण करके पूजन अर्चन किया जाएगा। कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन तीन मई तक है। इसके यहीं समाप्त होने अथवा आगे बढऩे के सम्बंध में फिलहाल कोई जानकारी नहीं है। इसके बावजूद जानकारों का अनुमान है कि लॉकडाउन खुलने पर भी लोगों को बड़ी संख्या में नर्मदा तटों तक पहुंचने की अनुमति की उम्मीद न के बराबर है। इसी के चलते घरों में पूर्णिमा की पूजा की तैयारी की जा रही है।

घर में ही तीर्थ जल में होगा स्नान-दान का पुण्य फल

 

narmada.png

ज्योतिर्विद जनार्दन शुक्ला के अनुसार कोरोना संक्रमण में वैशाख पूर्णिमा को तीर्थ स्थल में स्नान सम्भव नहीं है। इस दिन स्नान के जल में नर्मदा या गंगा जल मिलाकर संकल्प के साथ स्नान करने से तीर्थ स्नान का पुण्य फल प्राप्त होगा। पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु एवं भगवान शिव की पूजा का विशेष महत्व है। घरों में सत्यनारायण व्रत कथा होगी। यजमानों के आग्रह पर कुछ ज्योतिषाचार्य ऑनलाइन मंत्रोच्चार करके अनुष्ठान पूर्ण कराएंगे।

वैशाख माह में दो पूर्णिमा हैं। स्नान दान पूर्णिमा से एक दिन पहले 6 मई को व्रत पूर्णिमा है। इसी दिन भगवान नृसिंह का प्राकट्योत्सव मनाया जाता है। शास्त्रीब्रिज स्थित भगवान नरसिंह मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के बीच स्वामी डॉ. श्यामदेवाचार्य के सान्निध्य में पूजन अर्चन होगा। वैशाख पूर्णिमा के दिन भगवान बुद्ध पूर्णिमा मनाई जाती है।

Show More
Lalit kostha Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned