वैशाख पूर्णिमा बन रहा खास संयोग, तीर्थ स्नान, दान पुण्य और अनुष्ठान से मिलेगा विशेष फल

वैशाख पूर्णिमा बन रहा खास संयोग, तीर्थ स्नान, दान पुण्य और अनुष्ठान से मिलेगा विशेष फल

Abhishek Dixit | Publish: May, 17 2019 08:13:46 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

नर्मदा तट पर पुण्य की डुबकी लगाएंगे श्रद्धालु

जबलपुर. वैशाख पूर्णिमा शनिवार को नर्मदा तट पर सुबह से ही श्रद्धालओं को तांता लगेगा। सूर्योदय के पहले ही ज्यादातर लोग स्नान-दान कर पुण्य अर्जित करेंगे। इस मौके पर नर्मदा तट, मंदिरों व अन्य स्थानों पर धार्मिक अनुष्ठान किए जाएंगे। पूर्णिमा की पूर्व संध्या पर ही नर्मदा के तटों पर दुकानें लगा दी गई।

ज्योतिर्विद जनार्दन शुक्ला के अनुसार वैशाख पूर्णिमा के दिन तीर्थ स्नान, दान पुण्य एवं अनुष्ठान विशेष फलदायी होता है। सनातन धर्म में माघ, कार्तिक, सावन एवं वैशाख माह की पूर्णिमा महत्वपूर्ण होती है। एक माह तक सूर्योदय से पूर्व स्नान करके नियम संयम से उपासना करने वाले लोगों को वैशाख व्रत शनिवार को पूर्ण होगा।

इस मौके पर लोग लोग भगवान शिव का रूद्राभिषेक, सत्यनारायण व्रत कथा, भगवान विष्णु सहस्त्रनाम पाठ सहित अनेके प्रकार के अनुष्ठान करते हैं। नर्मदा तीर्थ में स्नान, दान व दीपदान व महाआरती कर लोग पुण्य अर्जित करते हैं। नर्मदा महाआरती समिति के संयोजक ओंकार दुबे ने बताया, वैशाख महाआरती में प्रतिदिन की अपेक्षा ज्यादा संख्या में लोग मां नर्मदा की स्तुति-आराधना करेंगे।

होगी नर्मदा पंचकोसी परिक्रमा
हरे कृष्णा आश्रम भेड़ाघाट से सुबह 7 बजे नर्मदा पंचकोसी परिक्रमा प्रारम्भ होगा। नर्मदा पंचकोसी परिक्रमा समिति के संरक्षक डॉ. सुधीर अग्रवाल ने बताया, मां नर्मदा महाआरती के बाद परिक्रमा शुरू होगी। संकीर्तन करते हुए परिक्रमावासी चलेंगे। लम्हेटाघाट एवं सरस्वती घाट पर श्रद्धालुओं के लिए पर्याप्त नावों की व्यवस्था होगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned