जबलपुर में 4 दिन नहीं मिलेगा पानी, रमनगरा की पाइप लाइन फूटी: देखें वीडियो

जबलपुर में 4 दिन नहीं मिलेगा पानी, रमनगरा की पाइप लाइन फूटी: देखें वीडियो

 

By: Lalit kostha

Published: 23 May 2020, 12:46 PM IST

जबलपुर। केबल बिछाने के लिए की जा रही खुदाई के दौरान बरती गई लापरवाही से शुक्रवार को मेडिकल के समीप रमनगरा प्लांट की राइजिंग लाइन फूट गई। पाइप लाइन के आसपास पानी भर गया। सप्लाई बाधित होने से सोलह टंकियों में पानी नहीं पहुंचा। इससे आधे शहर की जलापूर्ति व्यवस्था ठप हो गई। बताया गया कि पाइप लाइन को दुरुस्त करने में तीन-चार दिन लगेंगे। इस दौरान लगभग आठ लाख लोगों को फिर बड़े जलसंकट का सामना करना पड़ेगा।

खुदाई में लापरवाही : आठ लाख से ज्यादा लोगों को करना पड़ेगा जलसंकट का सामना
मेडिकल के पास फिर फूटी राइजिंग लाइन, आधे शहर में जलापूर्ति ठप


हर साल गर्मी में पाइप लाइन फूटती है। इसके लिए सीधे तौर पर निगम के अधिकारी जिम्मेदार हैं। अभी तक पाइप लाइन और सीवर लाइन का रिकॉर्ड तैयार नहीं किया जा सका है। किसी भी साइट पर काम करने की अनुमति देने के बाद नगर निगम के अधिकारी वहां नहीं जाते। शहर में लॉकडाउन जारी है। ईद का पर्व भी नजदीक है। जलापूर्ति बाधित होने से शहरवासियों को परेशानी होगी।
- राजेश सोनकर, पूर्व नेता प्रतिपक्ष, नगर निगम

निगम दर्ज कराएगा एफआईआर-
नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि मेडिकल कॉलेज में सर्विस स्टेशन का काम चल रहा है। इंदौर की कल्याण टोल इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड केबल बिछा रही है। इसके लिए ड्रिल मशीन से खुदाई की जा रही थी। इसी दौरान राइजिंग लाइन फूट गई। निगम के अधिकारियों ने बताया कि ठेकेदार कम्पनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी।

कलेक्टर ने कहा था करो कार्रवाई, निगम को दर्ज करानी पड़ी एफआईआर
पाइपलाइन की मरम्मत का कार्य तेजी से करवाने के लिए कलेक्टर भरत यादव ने शुक्रवार को निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने सम्बंधित ठेका कंपनी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने के लिए भी निर्देश दिए थे। उसके बादठेकेदार कं पनी के विरुद्ध निगम प्रशासन ने एफआईआर दर्ज कराई। वहीं, सम्भागायुक्त व निगम के प्रशासक महेशचंद्र चौधरी ने पीआईयू के अधिकारी व बिजली विभाग के अधिकारी को इस लापरवाही के लिए नोटिस जारी करने के लिए निर्देशित किया।

 

 

Women have to bring water from two km away

नहीं भरी जा सकेंगी ये टंकियां
राइजिंग लाइन फूटने से बिड़ला धर्मशाला, मेडिकल, त्रिपुरी, बेदी नगर, गुलौआ, रामेश्वरम कालोनी, मनमोहन नगर, लेमा गार्डन, राइट टाउन, सर्वोदय नगर, लक्ष्मीपुर, गोहलपुर, आनंद नगर, मोतीनाला, कोतवाली, मदर टेरेसा नगर की टंकियों में पानी नहीं भरा जा सकेगा। इससे गढ़ा, मेडिकल, धनवंतरि नगर, गंगानगर, गुलौआ, गंगा सागर, बेदी नगर, मदन महल, यादव कॉलोनी, विजय नगर, रानीताल, राइट टाउन, मनमोहन नगर, कोतवाली, मदर टेरेसा नगर, गोहलपुर, आनंद नगर अधारताल समेत कई अन्य इलाकों में जलापूर्ति बाधित रहेगी।

100 टैंकर व 20 टंकी की व्यवस्था
निगमायुक्त ने बताया कि शहरवासियों को जल संकट का सामना न करना पड़े, इसके मद्देनजर प्रभावित इलाकों में में सौ टैंकरों से जलापूर्ति की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा बीस बड़ी टंकी रखवाई गई हैं।

इंदौर की कल्याण टोल इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड केबल लाइन बिछा रही है। इसके लिए ड्रिल मशीन से खुदाई की जा रही थी। इसी दौरान पाइप लाइन में छेद हो गया। ठेकेदार कम्पनी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। जिन इलाकों में जलापूर्ति बाधित हुई है, वहां टैंकरों से पानी पहुंचाया जाएगा।
- कमलेश श्रीवास्तव, कार्यपालन यंत्री, नगर निगम

हर साल गर्मी में पाइप लाइन फूटती है। इसके लिए सीधे तौर पर निगम के अधिकारी जिम्मेदार हैं। अभी तक पाइप लाइन और सीवर लाइन का रिकॉर्ड तैयार नहीं किया जा सका है। किसी भी साइट पर काम करने की अनुमति देने के बाद नगर निगम के अधिकारी वहां नहीं जाते। शहर में लॉकडाउन जारी है। ईद का पर्व भी नजदीक है। जलापूर्ति बाधित होने से शहरवासियों को परेशानी होगी।
- राजेश सोनकर, पूर्व नेता प्रतिपक्ष, नगर निगम

Lalit kostha Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned