मानसून की चेतावनी- डैम के गेट खुले, नर्मदा में बाढ़ के हालात

मानसून की चेतावनी- डैम के गेट खुले, नर्मदा में बाढ़ के हालात

Lalit Kumar Kosta | Publish: Sep, 04 2018 01:09:07 PM (IST) Jabalpur, Madhya Pradesh, India

मानसून की चेतावनी- डैम के गेट खुले, नर्मदा में बाढ़ के हालात

 

जबलपुर। पिछले दो दिनों से बारिश भले ही नहीं हो रही है, लेकिन बादलों ने पूरे शहर को ढंक रखा है। सूर्यदेव ने दर्शन नहीं दिए हैं। मंगलवार को सूरज कुछ मिनटों के लिए दिखा, लेकिन बादलों ने उसे भी ढंक लिया। हालांकि मौसम में ठंडक घुली हुई है। हवाओं ने ठंड का एहसास लोगों को करा दिया है। रात के तापमान में जबरदस्त गिरावट दर्ज की गई है।

news fact- दो दिन से थमी बारिश, अब भी बरगी डैम के 5 गेट खुले

शहर में एक दो दिन में बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी में दो दिन बाद बनने वाले कम दबाव के चक्रवात से अच्छी बारिश का अनुमान है। अगस्त की बारिश सामान्य के रेकॉर्ड से अधिक हो गई। मौसम विभाग के वैज्ञानिक सहायक आरके दत्ता ने बताया, 15 सितम्बर के बाद भी बारिश का पूर्वानुमान है। उत्तरी मप्र के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना है। पूर्वी मप्र के जबलपुर एवं आसपास के क्षेत्रों में तीन कहीं कहीं हल्की बारिश हो सकती है। पांच सितम्बर से बंगाल की खाड़ी में नए सिस्टम को सक्रिय होने का पूर्वानुमान है। धूप नहीं होने के कारण पारा नीचे लुढक़ गया है। सुबह शाम ठंडक का अहसास हो रहा है। सोमवार को शहर में बारिश नहीं हुई। अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 27.8 डिग्री सेल्सियस एवं न्यूनतम तापमान 23.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

कैचमेंट एरिया में बारिश से बढ़ रहा जलस्तर
ेकैचमेंट इलाके में बारिश होने से बरगी डैम में जल स्तर तेजी से बढ़ रहा है। जल स्तर को सुरक्षित सीमा तक रखने के लिए बरगी डैम के 5 गेटों को आधा मीटर तक खुला रखा गया है। इन गेटों से लगातार पानी छोड़े जाने के कारण नर्मदा तटों में जल स्तर बढ़ा हुआ है। धुआंधार, घुघवा जैसे सभी जल प्रपात डूबे हुए हैं। दो साल बाद एक पखवाड़े से भी ज्यादा समय से दूसरी बार नर्मदा तटों में जल स्तर इतना बढ़ा हुआ है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned