जब अपराध करने वाले हाथों ने थामी डिग्रियां

पहली बार सेंट्रल जेल में हुआ इग्नू का दीक्षांत

 

By: mukesh gour

Published: 04 Apr 2019, 12:12 PM IST

जबलपुर. इग्नू का 32वां दीक्षांत समारोह बुधवार को जबलपुर सेंट्रल जेल में कैदियों के बीच आयोजित किया गया। यह संभवत: पहला मौका था जब विवि का दीक्षांत सेंट्रल जेल में हुआ। इस दौरान 713 विद्यार्थियों को उपाधि से नवाजा गया। इसमें 4 महिलाओं सहित 22 बंदी जेल के भी थे। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जेएनकेवि के कुलपति प्रो. पीके बिसेन ने इसे अनूठी पहल बताते हुए कहा कि इग्नू ऐसे लोगों को भी शिक्षित करने का काम कर रहा है, जो रेग्युलर क्लास अटैंड न कर पाने के कारण शिक्षा से वंछित रह जाते थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता इग्नू के क्षेत्रीय निदेशक एस श्रीनिवास ने की।

वंचित लोगों को भी मिली शिक्षा
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जेएनकेवि के कुलपति प्रो. पीके बिसेन थे। उन्होंने कहा कि इग्नू ऐसे लोगों को भी शिक्षित करने का काम कर रहा है, जो कि रेग्युलर क्लास अटैंड न कर पाने के कारण शिक्षा से वंछित रह जाते थे। ऐसे में अब वे लोग भी शिक्षित हो रहे हैं जो शिक्षित होने के सपने देखते हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता इग्नू के क्षेत्रीय निदेशक एस श्रीनिवास ने वार्षिक प्रतिवेदन का वाचन किया। इस बीच उन्होंने बताया कि शहर में 98 से अधिक पाठ्यक्रमों को संचालित किया जा रहा है। इसमें टूरिज्म, समाजकार्य, अनुवाद जैसे क्षेत्रों में रोजगार मूलक शिक्षा प्रदान की जा रही है। इस मौके पर सहायक क्षेत्रीय निदेशक डॉ. विवेक श्रीवास्तव, डॉ. हरीश कुमार केवट, सहायक क्षेत्रीय निदेशक डॉ. अनीता पहारिया आदि उपस्थित थे।


जीवन को पढ़ाई ने दी नई दिशा
इनका पूरा जीवन भले ही गलत संगति में पडऩे के कारण सलाखों के पीछे गुजरेगा, लेकिन इसके बाद भी इनके जीवन को पढ़ाई ने नई दिशा देने का काम किया है। हम यहां बात कर रहे हैं सेंट्रल जेल के ऐसे कैदियों की जिन्होंने अलग-अलग विषयों में पढ़ाई करते हुए डिग्री प्राप्त की है। इग्नू के इस समारोह में आजीवन कारावास की सजा झेल रहे 18 पुरुष और 4 महिलाओं को टूरिज्म, मैनेजमेंट और अन्य विषयों में पढ़ाई करने के लिए डिग्री प्राप्त हुई। समाज की कटी नजरों में रहने वाले इन बंदियों की मेहनत वर्तमान में हर किसी के लिए मिसाल बन चुकी है। उनका कहना है कि शिक्षा जीवन को बदल देती है उनका पढ़ाई भी किसी मोड़ पर काम आएगी।

mukesh gour
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned