scriptWhere the garbage was thrown earlier, now there is greenery blooming | पहले जहां फेंका जाता था कचरा, अब वहां लहलहा रही है हरियाली | Patrika News

पहले जहां फेंका जाता था कचरा, अब वहां लहलहा रही है हरियाली

सेवानिवृत्त फैक्ट्रीकर्मी का जुनून, जनसहयोग भी मिल रहा

जबलपुर

Published: May 01, 2022 09:23:10 pm

जबलपुर.
आयुध निर्माणी खमरिया में सेवाएं देने के बाद एक सेवानिवृत्त कर्मचारी ने फैक्ट्री की उस जगह पर हरियाली लहलहा दी है, जहां कचरा फेंका जाता था। उन्होंने दस साल की मेहनत से बगीचा तैयार कर दिया है। इस कार्य में फैक्ट्री प्रशासन ने भी मदद की है। ये सेवानिवृत कर्मचारी हैं जेडब्ल्यूएम कृष्ण मुरारी शर्मा। शर्मा का कहना है कि फैक्ट्री के सहयोग के साथ उनके इस कार्य से प्रेरित होने वाले लोग भी उनकी मदद कर रहे हैं।
Where the garbage was thrown earlier, now there is greenery blooming
आयुध निर्माणी खमरिया में सेवाएं देने के बाद एक सेवानिवृत्त कर्मचारी ने फैक्ट्री की उस जगह पर हरियाली लहलहा दी है, जहां कचरा फेंका जाता था।
ओएफके के बंगलो एरिया के करीब तीन एकड़ जगह ऐसी है, जहां उन्नत किस्म के पौधे वृक्ष का आकार लेने लगे हैं। इस जगह पर हरियाली देखकर फैक्ट्री प्रशासन ने उसका स्वरूप उपवन के रूप में दे दिया है। फेंसिंग हो जाने से हरियाली सुरक्षित हो गई है। निगरानी और नियमित रखरखाव से हरियाली बढ़ती जा रही है।
पर्यावरण शुद्ध करने की इच्छा जागी

फैक्ट्री से सेवानिवृत होने के बाद कचरे का निष्पादन एक जगह होने से वीरान पड़े इस क्षेत्र को उन्नत करने का जुनून छा गया और फिर पौधे लगाने का सिलसिला शुरू हो गया। सुबह से लेकर शाम तक पौधों की सेवा करना शर्मा का मकसद बन गया था।
मिला तिरस्कार

शर्मा कहते हैं कि शुरुआत में परिवार के साथ अन्य लोगों ने तिरस्कार की नजरों से उन्हें देखा था। लेकिन, वे अपने कार्य में लगे रहे और आखिरकार जब इस जगह पर हरियाली दिखाई देने लगी तो उन्हीं लोगों में से कुछ लोग उन्हें आकर मदद करने लगे।
फैक्ट्री कर्मियों का मिला सहयोग

हरियाली लाने के इस कार्य में फैक्ट्री कर्मियों से उन्हें काफी सहयोग मिला। इसमें जेडब्ल्यूएम रहमान थे, जिन्होंने फेंसिंग बनाने में काफी मदद की, इसके साथ समयसमय पर पौधों की सेवा के लिए हरसंभव सहयोग करते थे।
आयुर्वेदिक, बोनसाइज के भी पौधे

पौधरोपण में इस जगह पर आयुर्वेदिक और बोनसाइज पौधे रोपे गए हैं। इन पौधों की सेवा करने से वे तैयार हो गए हैं। आलम यह है कि इस जगह पर इन पौधों में दोदो फीट पर आमपाम दिखाई दे रहे हैं।
2012 में फेंका था आखिरी बार कचरा

वैसलैंड और मानेगांव की दीवार से लगी इस जगह पर मूलत: लोग घरों से निकलने वाले कचरे को फेंका करते थे। इसमें कृष्ण मुरारी भी शामिल थे। कचरे की वजह से दुर्गंध और आवारा मवेशियों की मौजूदगी से हालत खराब हो रही थी। कृष्ण का कहना है कि उन्होंने आखिरी बार इस जगह पर 2012 में कचरा फेंका था और उसके बाद लोगों के सहयोग से कचरा फेंकने की जगह नियत करवा दी थी।
तीन हजार पौधे रोपे

दस साल के अंदर करीब तीन हजार पौधे रोपे गए हैं। ये सभी जीवित हैं। फैक्ट्री प्रबंधन की ओर से इस जगह को उपवन का रूप दे दिया गया है।
कृष्ण मुरारी शर्मा, सेवानिवृत फैक्ट्रीकर्मी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्सयहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतिशुक्र का मेष राशि में गोचर 5 राशि वालों के लिए अपार 'धन लाभ' के बना रहा योगराजस्थान के 16 जिलों में बारिश-आंधी व ओलावृ​ष्टि का अलर्ट, 25 से नौतपाजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथइन बर्थ डेट वालों पर शनि देव की रहती है कृपा दृष्टि, धीरे-धीरे काफी धन कर लेते हैं इकट्ठा7 फुट लंबे भारतीय WWE स्टार Saurav Gurjar की ललकार, कहा- रिंग में मेरी दहाड़ काफीशुक्र देव की कृपा से इन दो राशियों के लोग लाइफ में खूब कमाते हैं पैसा, जीते हैं लग्जीरियस लाइफ

बड़ी खबरें

टाइम मैगजीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट, जेलेंस्की, पुतिन के साथ 3 भारतीय भी शामिलHaj 2022: दो साल बाद हज पर जाएंगे मोमिन, पहला भारतीय जत्था 4 जून को होगा रवानाआ गया प्लास्टिक कचरे का सफाया करने वाला नया एंजाइमWomen's T20 Challenge: पहले ही मैच में धमाकेदार जीत दर्ज की सुपरनोवास ने, ट्रेलब्लेजर्स को 49 रनों से हराया‘सिंधिया जिस दिन कांग्रेस छोडक़र गए थे, उसी दिन से उनका बुढ़ापा शुरू हो गया था’गुजरात: निवेशकों से डेढ अरब की धोखाधड़ी कर फरार हुआ कम्पनी मालिक पत्नी सहित गिरफ्तारअनिल बैजल के इस्तीफे के बाद Vinai Kumar Saxena बने दिल्ली के नए उपराज्यपालISI के निशाने पर पंजाब की ट्रेनें? खुफिया एजेंसियों ने दी चेतावनी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.