खेत में बम फटा किसने देखा?

जबलपुर के पनागर में खेत में बम गिरने की सूचन से दहशत में आए ग्रामीण, एलपीआर प्रबंधन और पुलिस ने की जांच, नहीं मिला बम

 

By: shyam bihari

Published: 16 Oct 2020, 09:39 PM IST

जबलपुर। कहने को तो जबलपुर के पनागर के ग्राम पडऱी के एक खेत में बम गिरने की खबर फैली। बम खमरिया स्थित लॉन्ग पू्रफ रेंज (एलपीआर) की तरफ से आने की बात किसान ने कही। इस पर एलपीआर के सैन्य अधिकारी और पनागर थाना के अलावा तहसील कार्यालय से स्टाफ जांच के लिए पहुंचा। जहां बम गिरा वहां गहरा गड्डा कराया गया। इसके बाद भी बम नहीं मिला। एलपीआर प्रबंधन ने बम गिरने से इनकार करते हुए कहा कि खरगोश के द्वारा गड्ढा किया गया। घटना को गलत रूप दे दिया गया। वहीं पुलिस ने बम के जमीन के ज्यादा अंदर होने की बात कही।
ग्राम पंचायत पडऱी के किसान रामलाल काछी ने दोपहर में अपने खेत में गहरा गड्ढा देखा। उन्होंने एलपीआर से बम भटकते हुए खेत में गिरने की आशंका जाहिर की। इससे वहां भारी भीड़ एकत्रित हो गई। इसकी सूचना पनागर तहसील, थाना और एलपीआर प्रबंधन तक पहुंच गई।

एलपीआर से सैन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस भी वहां पहुंची। गड्ढे वाली जगह पर जेसीबी की सहायता से 12 से 15 फीट गहरा गड्ढा खोदा गया। लेकिन वहां बम नहीं मिला। किसानों का कहना था कि एलपीआर से बम के भटककर खेतों और घरों के आसपास गिरने की की ऐसी घटनाएं पहले भी हो चुकी हैं। एलपीआर खमरिया के कमांडेंट ब्रिगेडियर निश्चय राउत ने कहा कि घटना की जानकारी लगी थी। यूनिट के अधिकारियों को भेजकर जांच कराई है। पुलिस के सहयोग से जेसीबी से खेत में गहरा गड्ढा कराया गया। लेकिन बम बरामद नहीं हुआ। यही नहीं गड्ढे का जो रूप था, उससे भी प्रतीत नहीं होता कि कोई बम यहां गिरा होगा। संभावना है कि खरगोश के द्वारा गड्ढा कर दिया गया हो जिसे बम के गिरने से बना माना गया।

Show More
shyam bihari Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned