आखिर क्यों 750 किमी दौड़ेंगे सेना के जवान

कांगला टांगबी युद्ध की प्लेटिनम जुबली, पांच आयुध कोर के धावक हुए शामिल

 

By: gyani rajak

Published: 28 Mar 2019, 11:50 PM IST

 

जबलपुर. कांगला टांगबी युद्ध की प्लेटिनम जुबली के उपलक्ष्य में सेना आयुध कोर 750 किमी लम्बी दौड़ का आयोजन कर रहा है। इसमें जबलपुर सीएमएम से सिकंदराबाद तक पांच आयुध कोर के धावक शामिल हो रहे हैं। दौड़ को गुरुवार के दिन सीएमएम के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल आरकेएस कुशवाहा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

7 अप्रैल को कांगला टांगबी युद्ध की प्लेटिनम जुबली मनाई जाएगी। यह मणिपुर में इम्फाल- दीमापुर रोड पर स्थित है। इसमें 221 अग्रिम आयुध भंडार के आयुध कर्मियों ने अविस्मरणीय साहस, वीरता एवं सर्वोच्च बलिदान व कार्यनिष्ठा को दिखाया था। इसी उपलक्ष्य में अल्ट्रा रन का आयोजन किया जा रहा है। 28 मार्च को शुरू हुई दौड़ 7 अप्रैल को समाप्त होगी।

प्रतिदिन 70 किमी का सफर
इस दौड़ को 28 मार्च को झंडाफ हरा कर रवाना किया गया। यह दौड़ 7 अप्रैल को पूरी होगी। धावक लगातार 10 दिन तक प्रतिदिन 70 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे।यह टीम गर्म और थका देने वाले चिलचिलाती मौसम में मध्य प्रदेश महाराष्ट्र और तेलंगाना राज्यों से होते हुए दौड़ पूरा करेंगे। प्रतिदिन 70 किलोमीटर की दूरी 75 साल पुराने युद्ध एवं वीर सैनिकों के बलिदान का स्मरण कराएगी। इस दौड़ को पूरा करने के लिए बहुत उच्च दर्जे की सहनशक्ति शारीरिक और मानसिक दक्षता की जरूरत होती है।

बड़ी मुश्किल से किया चयन

इस टीम का नेतृत्व कर रहे हैं और बहुत सारे लोगों के बीच कठिन परिश्रम और प्रशिक्षण के बाद इन लोगों का चयन किया गया है। कुशवाहा ने टीम के सभी सदस्यों से मुलाकात की और उन्हें इस उद्देश्य के लिए शुभकामनाएं दी। इस दौड़ को समर्थन अथवा शक्ति प्रदान करने के लिए सीएमएम के जूनियर कमीशंड ऑफिसर और 33 अन्य रैंकों के अधिकारियों एवं जवानों ने सीएमएम सीता पहाड़ी से राज्य मार्ग ब्रिज तिलहरी तक टीम के साथ जुडकऱ 10 किलोमीटर दूरी तय की।

कर्नल संदीप कर रहे नेतृत्व
इस दौड़ में कर्नल संदीप मदन धावकों का नेतृत्व कर रहे हैं और उनके साथ मेजर सचिन सिंह कुंटल, नायब सूबेदार रमेश कुमार, नायक हरिओम और सिपाही अजय दास भाग ले रहे हैं उनके प्रशासनिक प्रबंधन के लिए लेफ्टिनेंट कर्नल एचएस शेखो, मेजर अजय बेनीवाल आरएमओ, तीन पैरा एसएफ , हवलदार शशि कुमार, पी सिपाही एवं हवलदार अंशुमन साहू शामिल हैं।

 

gyani rajak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned