बैंकों ने मनमानी क्यों काटी 12 हजार पेंशनर्स की राशि

हाइकोर्ट ने सरकार व बैंकों को जारी किए नोटिस

 

By: prashant gadgil

Published: 04 Sep 2020, 07:09 PM IST

जबलपुर. हाईकोर्ट ने विभिन्न बैंकों व सरकार को नोटिस जारी कर पूछा कि राज्य के 12 हजार पेंशनर्स के पेंशन से मनमानी राशि क्यों काटी गई? जस्टिस नंदिता दुबे की सिंगल बेंच ने राज्य सरकार व सम्बंधित बैंकों से चार सप्ताह में जवाब मांगा।
पेंशनर्स समस्या निराकरण एसोसिएशन के अध्यक्ष दर्शन सिंह तलरेजा की ओर से अधिवक्ता राहुल मिश्रा ने तर्क दिया कि विभिन्न बैंकों ने पेंशन पुनरीक्षण के बाद भुगतान करते समय सारांशीकरण की राशि मनमानी काट ली। इससे पेंशनर्स को आर्थिक क्षति हुई। राज्य सरकार ने जून 2018 में सातवें वेतनमान का लाभ दिया था। इसके पालन में पेंशन भुगतानकर्ता बैंकों से पेंशन का पुनरीक्षित भुगतान किया जाना था। लेकिन, मनमानी गणना करके पेंशनर्स की राशि काट ली गई। राज्य के लगभग 12 हजार पेंशनर्स को कम भुगतान हुआ। इसे अवैधानिक बताते हुए काटी गई राशि वापस दिलाने और दोषियों पर कार्रवाई का आग्रह किया गया। जस्टिस नंदिता दुबे की सिंगल बेंच ने राज्य सरकार व सम्बंधित बैंकों से चार सप्ताह में जवाब मांगा।

prashant gadgil Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned