जबलपुर में डीजीपी के तेवरों पर क्यों होती रही चर्चा

-जोन की अपराध की समीक्षा में करने पहुंचे थे डीजीपी विवेक जौहरी
-डीजीपी ने जबलपुर जोन के पांच जिलों की त्रिवर्षीय तुलनात्मक समीक्षा की

By: santosh singh

Published: 16 Oct 2020, 11:03 PM IST

जबलपुर। पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी ने कहा कि अवैध शराब, हथियार और मिलावखोरों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई करो। सम्पत्ति सम्बंधी अपराधों में लिप्त लोगों पर सख्त कार्रवाई करते हुए अधिक से अधिक बरामदगी का प्रयास होना चाहिए। महिला, बच्चियों और बुजुर्गों से सम्बंधित अपराध की सूचना पर त्वरित कार्रवाई करें। वर्दी में अनुशासन बेहद जरूरी है। इसे तोडऩे वालों पर सख्त कार्रवाई करें। डीजीपी ने दोपहर तीन बजे से पुलिस कंट्रोल रूम में जोन के पांचों जिलों के पुलिस अधीक्षक और जबलपुर के सभी राजपत्रित अधिकारियों की मौजूदगी में अपराधों की समीक्षा की। जिलेवार हत्या, हत्या के प्रयास, लूट, गृहभेदन, मारपीट, महिला सम्बंधी अपराधों की त्रिवर्षीय तुलनात्मक समीक्षा की। वहीं चिन्हित जघन्य और सनसनीखेज वारदातों की अद्यतन स्थिति की जानकारी ली।

dgp Vivek Johri .jpg
IMAGE CREDIT: patrika

इस मौके पर आईजी भगवत सिंह चौहान, डीआईजी छिंदवाड़ा अनिल महेश्वरी, एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा, कटनी एसपी ललित शाक्यवार, सिवनी एसपी कुमार प्रतीक, छिंदवाड़ा एसपी विवेक अग्रवाल, नरसिंहपुर एसपी अजय सिंह सहित जिले के सभी राजपत्रित अधिकारी उपस्थित थे।
मीडिया से बचते रहे डीजीपी
जिले में पहली बार डीजीपी विवेक जौहरी का आगमन हुआ, लेकिन वे मीडिया से दूर-दूर ही रहे। पुलिस लाइन में ये कहकर निकल गए कि क्राइम समीक्षा के बाद बोलूंगा। क्राइम समीक्षा के बाद धीरे से ऑफिसर मेस निकल गए। डीजीपी का यूं मीडिया वालों से दूरी बनाने को लेकर कई तरह की चर्चाएं गरम रहीं।

Show More
santosh singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned