पति का शव लेकर एसपी ऑफिस पहुंची पत्नी, वीडियो में देखें क्या लगाए आरोप

पति का शव लेकर एसपी ऑफिस पहुंची पत्नी, वीडियो में देखें क्या लगाए आरोप

रांझी थाना अंतर्गत मोहनिया कबीर आश्रम के पास बीते दिनों पानी को लेकर हुए विवाद मे घायल होमगार्ड सैनिक ने शनिवार की सुबह इलाज के दौरान दम तोड़

जबलपुर। पुलिस की कार्यप्रणाली आमजन के लिए तो परेशानी बनती है, साथ ही उसके खुद के सिस्टम के लिए भी बहुत कमजोर है। खुद पुलिस वाले और होमगार्ड के परिजन सुस्त कार्रवाई का शिकार हो जाते हैं। ऐसा ही मामला जबलपुर में हुआ है। जिसमें एक होमगार्ड को उसके पड़ोसियों ने इस कदर मारा कि दो महीने इलाज कराने के बाद भी उसकी जिंदगी नहीं बचाई जा सकी। शनिवार को उसकी मौत हो गई। गुस्साई पत्नी ने पुलिस कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए पति का शव लेकर एसपी ऑफिस पहुंच गई। जहां मामला मचता देख आला अधिकारी मौके पर पहुंचे और उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।

READ MORE- election 2018 : पश्चिम में डॉक्टर की दावेदारी से पूर्व मंत्री की बढ़ी मुसीबत, भाजपा में घमासान, कांग्रेस में कलह की आशंका
यह है मामला-
मोहनिया रांझी निवासी गायत्री बाई काछी ने बताया कि उसके पति सुरेश कुमार काछी 50 वर्ष होमगार्ड सैनिक थे। 26 जुलाई को पानी को लेकर पड़ोस में रहने वाली प्रकाश काछी, संदीप काछी, पवन काछी ने हाथ मुक्का और लाठी से उसके पति सुरेश कुमार काछी को बुरी तरह मारा-पीटा था। तब से वह पति का नागपुर तक इलाज करा चुकी, लेकिन कोई आराम नहीं मिला। सभी जगह चिकित्सकों ने हाथ खड़े कर दिए। 15 अगस्त को वह रद्दी चौकी स्थित केजीएन हॉस्पिटल ले गई। जहां इलाज के दौरान शनिवार 8 सितम्बर की सुबह उनकी मौत हो गई।
आरोप लगाया कि रांझी पुलिस ने मारपीट में आई गंभीर चोटों के बावजूद सिर्फ मामूली धारा में कार्रवाई की थी। पति की मौत के मामले में हत्या का प्रकरण दर्ज किए जाने की मांग को लेकर परिजन और रिश्तेदारों के साथ वह लाश लेकर एसपी कार्यालय में धरना देने पहुंची थी। कार्यालय प्रभारी डीएसपी मलखान सिंह ने ज्ञापन लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। आश्वासन दिया कि रिपोर्ट के आधार पर मामले में आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned