shortage of teacher : बिन गुरु कैसे मिले ज्ञान, स्कूलों में 800 शिक्षकों की जरूरत

shortage of teacher : बिन गुरु कैसे मिले ज्ञान, स्कूलों में 800 शिक्षकों की जरूरत
shortage of teacher, shortage of teacher in govt school, shortage of teachers in schools, school teacher, school teacher news

Tarunendra Singh Chauhan | Updated: 26 Jul 2019, 05:50:13 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

स्कूल शिक्षा विभाग और विवि में धीमी गति से चल रही शिक्षक भर्ती प्रक्रिया

जबलपुर. विश्वविद्यालय हो या फिर स्कूल शिक्षा विभाग। शिक्षकों की कमी दोनों जगह खल रही है। विश्वविद्यालय ने अब तक भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं की है। वहीं स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया में बार-बार नियम बदलने से शिक्षक नहीं पहुंच सके हैं। हालात ये हैं कि ग्रामीण क्षेत्रों में अधिकांश स्कूलों को शिक्षक नहीं हैं।

बताया जाता है जिले हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी के लिए करीब 800 शिक्षकों की आवश्यकता जताई गई थी। अतिथि शिक्षकों की भर्ती के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया आयोजित की गई। स्कोर कार्ड के अनुसार मेरिट के आधार पर पैनल तैयार कर स्कूलों में शिक्षकों का चयन किया गया। करीब 450 शिक्षक ही स्कूलों में पहुंच सके हैं।

यहां विवि में 110 पदों के लिए विज्ञापन- रादुविवि में 110 पदों के लिए गेस्ट फैकेल्टी के लिए आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। विवि प्रशासन ने 25 जुलाई से साक्षात्कार का दावा किया है, लेकिन प्रक्रिया लम्बी चलने से अगस्त में ही नियुक्ति को अंतिम रूप दिया जा सकेगा।

विवि पहुंचे हैं 450आवेदन- विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों में निकाले गए पदों के लिए करीब 450 आवेदन पहुंचे हैं। इसमें से 250 आवेदक पात्र पाए गए हैं। बीएड के लिए 41 आवेदन पहुंचे। वहीं विधि विभाग में 31, एमबीए में 30, फार्मेसी में 22 एवं कैमेस्ट्री में 26 आवेदन पहुंचे। भौतिक एवं इलेक्ट्रोनिक विभाग में कुल 17 आवेदन जीव विज्ञान 29 आवेदन पहुंचे हैं।

यह आई समस्या
- देर से आयोजित आवेदन प्रक्रिया
- पदों की संरचना में बार-बार बदलाव ठ्ठ पहले ऑफ लाइन लिए आवेदन
- फिर ऑनलाइन अपनाई प्रक्रिया
- आवेदन करने से दूर हटे शिक्षक
- ग्रामीण दूरस्थ क्षेत्रों में नहीं किए आवेदन

रादुविवि (01 जुलाई से सत्र प्रारंभ)
206 अपात्र
244 पात्र
450 आवेदन
110 शिक्षकों की जरूरत

स्कूल (01 जुलाई से सत्र प्रारंभ)
300 शिक्षक कम
450 अतिथि शिक्षक
180 स्कूल
750 शिक्षकों की जरूरत

विवि प्रशासन नियुक्ति प्रक्रिया जल्द पूरी करने का प्रयास कर रहा है ताकि छात्रों को इसका लाभ मिले। आवेदनों की स्क्रूटनी के बाद हम इंटरव्यू कॉल करने की तैयारी कर रहे हैं।
- प्रो.कमलेश मिश्रा, कुलसचिव रादुविवि

अतिथि शिक्षकों की भर्ती के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया आयोजित की गई थी। उच्च स्तर पर ही पदों की संरचना में बदलाव किया गया। स्कूलों से अतिथि शिक्षकों की जानकारी मंगाई गई है।
- पीके श्रीवास्तव, सहायक संचालक शिक्षा

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned