श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सवार होने पहुंचे श्रमिक, प्लेटफॉर्म से भगाया

आरपीएफ और जीआरपी ने स्टेशन परिसर से किया बाहर

By: virendra rajak

Published: 05 May 2020, 07:34 PM IST

जबलपुर. मुख्य रेलवे स्टेशन पर सोमवार को आई श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सवार होने के लिए तीन श्रमिक रेलवे प्लेटफॉर्म तक जा पहुंचे, तब तक ट्रेन जा चुकी थी। आरपीएफ और जीआरपी के जवानों की नजर उन पर पड़ी, तो उन्हें बाहर खदेड़ा। लॉक डाउन के बाद से तीनों श्रमिक जबलपुर में फंसे हैं।
गौर से पैदल पहुंचे थे कलेक्ट्रेट
बिहार के बेतिया जिले में रहने वाले शिवजी यादव, भूपेन्द्र कुमार और आनंद यादव ने बताया कि तीनों गौर स्थित एक निजी कम्पनी में काम करते हैं। लॉक डाउन में कम्पनी बंद है, किसी तरह अपना गुजारा कर रहे हैं। ट्रेन की जानकारी लगी, तो वे गौर से पैदल कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां कई कमरों के चक्कर काटने के बाद अधिकारियों ने उन्हें एक लिंक दिया और उस पर रजिस्ट्रेशन करने को कहा, लेकिन वह उनके मोबाइल में नहीं खुल रहा था।
स्टेशन पर आरपीएफ ने नहीं रोका
तीनों ने बताया कि वे प्लेटफॉर्म क्रमांक एक के प्रवेश द्वार से सीधे अंदर पहुंच गए। आश्चर्य है कि वहां तैनात आरपीएफ के जवान ने उन्हें नहीं रोका।
खाना खिलाया फिर किया रवाना
तीनों ही युवकों ने जीआरपी को बताया कि वे दो-तीन दिन से भूखे हैं। यह पता चलते ही जीआरपी ने तीनों युवकों के लिए खाने और पानी की व्यवस्था की। उन्हें यह भी बताया कि लॉक डाउन में कुछ प्रतिष्ठानों को खुलने की अनुमति मिली है, चाहे तो वे वहां काम भी कर सकते हैं।
वर्जन
तीन श्रमिक प्लेटफॉर्म तक पहुंच गए थे। उन्हें ट्रेन आने की जानकारी लगी थी। तीनों को स्टेशन परिसर से बाहर किया गया। उन्हें समझाईश देकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने को कहा गया, जिसके बाद तीनों चले गए।
-मंजीत सिंह, थाना प्रभारी, जीआरपी

virendra rajak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned