scriptWorn khaki at the age of playing breaking police | खेलने की उम्र में पहनी खाकी, लिया देश भक्ति जनसेवा का संकल्प | Patrika News

खेलने की उम्र में पहनी खाकी, लिया देश भक्ति जनसेवा का संकल्प

तीन और चार वर्ष उम्र के बाल आरक्षक हैं पुलिस महकमें में
अनुकंपा नियुक्ति के आधार पर बनते हैं बाल आरक्षक

जबलपुर

Published: March 26, 2022 09:43:54 pm

वीरेन्द्र रजक

जबलपुर,खेलने कूदने की उम्र में कई बच्चों ने देश भक्ति और जनसेवा का संकल्प लिया और मध्य प्रदेश पुलिस की वर्दी पहन ली। जबलपुर जोन की बात की जाए, तो इसमें बाल आरक्षक बने दो बच्चों की उम्र चार और पांच साल है। जबकि कुछ 15 से लेकर 17 वर्ष तक के हो गए है। उक्त बाल आरक्षकों के पिता की पुलिस में रहते हुए ड्यूटी के दौरान मौत हुई, तो उन्हें पुलिस में बाल आरक्षक के पद पर नियुक्ति दे दी गई।
Jhalawar News, Kota Police ..मां ने तीन बच्चों के साथ पी लिया जहर, गंभीर
Jhalawar News, Kota Police ..मां ने तीन बच्चों के साथ पी लिया जहर, गंभीर
बाल आरक्षक जिगर इनवाती:- जबलपुर
पांच वर्षीय जिगर कक्षा पहली का छात्र है। पिता जयंत इनवाती की मृत्यु हो गई। जिसके बाद जिगर को 19 अगस्त 2021 में बाल आरक्षक के पद पर अनुकंपा नियुक्ति मिली। जिगर अपनी मां और बडी बहन के साथ सगड़ा में रहते है। माह में एक से दो बार वे पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचते हैं और वहां सांकेतिक रूप से डाक बांटने का काम करते है। उनकी बकायदा उपस्थिति भी वहां रजिस्टर में दर्ज होती है। जिगर जबलपुर पुलिस में सबसे कम उम्र के बाल आरक्षक है।
jigar
IMAGE CREDIT: patrika
बाल आरक्षक गजेन्द्र मरकाम- कटनी
कटनी में रहने वाले गजेन्द्र मरकाम की उम्र अभी महज साढ़े चार से पांच साल के बीच है। उनके पिता श्याम सिंह की मौत हो गई। जिसके बाद कटनी में गजेन्द्र को बतौर बाल आरक्षक के रूप में 22 फरवरी को अनुकंपा नियुक्ति मिली। गजेन्द्र को भी माह में दो से तीन बार पुलिस अधीक्षक कार्यालय जाकर हस्ताक्षर करने होते है।
जबलपुर में यह हैं बाल आरक्षक
बैज नम्बर- नाम-उम्र
जिगर इनवाती- 05 वर्ष
आर्यन ठाकुर-12 वर्ष
हर्ष बस्तवार-14 वर्ष
प्रमोद धुर्वे-17 वर्ष
श्याम गुर्जर-17 वर्ष
अनुराग सिंह मरावी-17 वर्ष
अक्षया कदम-17 वर्ष
सुजल पटेल-17 वर्ष
्िरशवांग मरावी-17 वर्ष

बाल आरक्षक बनते हैं आरक्षक
यदि किसी सिपाही या हवलदार की पुलिस सेवाकाल के दौरान मौत हो जाती है, तो उसके पुत्र या पुत्री को अनुकंपा नियुक्ति दिए जाने का प्रावधान है। इस नियुक्ति को पाने के बाद बाल आरक्षक को पुिलस अधीक्षक कार्यालय जाना होता है और वहां उसे सांकेतिक रूप से काम करना पड़ता है। 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने और पात्रता परीक्षा पास करने पर बाल आरक्षक को नव आरक्षक के पद पर तैनात किया जाता है, जिसके बाद पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में उसका प्रशिक्षण होता है और वह आरक्षक बन जाता है।
जबलपुर जोन में कहां कितने बाल आरक्षक
जबलपुर-09
कटनी-05
छिंदवाड़ा-08
नरसिंहपुर-06
सिवनी-08

katni
IMAGE CREDIT: patrika
आधी तनख्वाह, बैच नंबर भी आधा
बाल आरक्षकों को पुलिस विभाग द्वारा आधी तनख्वाह दी जाती है। इसके साथ ही एक बैच नंबर दो बाल आरक्षकों को आवंटित किए जाते हैं, जिसमें एक क्रमांक के बाद एक या दो दर्ज होता है।
शहर में 100 जिले में 250 से अधिक
जानकारी के अनुसार जिले में लगभग 100 से अधिक ऐसे अधिकारी और जवान हैं, जो बाल आरक्षक के पद पर पुलिस में भर्ती हुए और आज वे सिपाही, हवलदार, एएसआई और एसआई तक के पदो पर है। वहीं जोन के पांचों जिलों में यह आंकड़ा 250 से अधिक है।


sp siddhart bahuguna
IMAGE CREDIT: patrika
- ड्यूटी के दौरान पुलिस जवानों की मौत होने पर उनके नाबालिग बच्चों को बाल आरक्षक के पद पर अनुकंपा नियुक्ति दी गई है। जबलपुर पुलिस में नौ बाल आरक्षक है। इनमें से कई बाल आरक्षक जल्द ही नव आरक्षक और फिर आरक्षक के पदों तैनात होंगें।
सिद्धार्थ बहुगुणा, एसपी

- मृत जवान के बेटे या बेटे को बाल आरक्षक के पद पर नियुक्ति देने से उस परिवार की आर्थिक मदद होती है। बाल आरक्षक यदि 18 वर्ष की आयु के बाद किसी दूसरी नौकरी को करना चाहता है, तो वह इसके लिए पूरी तरह स्वतंत्र रहता है। यदि वह ऐसा नहीं करना चाहता, तो वह आरक्षक के पद पर तैनात कर लिया जाता है।
मोहित वरवंडकर, रिटायर्ड डीएसपी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टहरियाणा: हरिद्वार में अस्थियां विसर्जित कर जयपुर लौट रहे 17 लोग हादसे के शिकार, पांच की मौत, 10 से ज्यादा घायलConstable Paper Leak: राजस्थान कांस्टेबल परीक्षा रद्द, आठ गिरफ्तार, 16 मई के पेपर पर भी लीक का सायाShivling In Gyanvapi: असदुद्दीन ओवैसी का अजीबोगरीब दावा, ज्ञानवापी में शिवलिंग नहीं, फव्वारा मिलाशिवलिंग मिलने के बाद वायरल हुआ ज्ञानवापी का वीडियों, आप खुद ही देखें क्या है सच्चाईनारी शक्ति : दूल्हे और उसके दोस्तों का हुड़दंग देखकर दुल्हन ने लौटाई बारात, दूसरे के संग लिए फेरे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.