युवक ने जहर खाकर की खुदकुशी, पुलिस पर लगा ये गंभीर आरोप

मृतक के परिजनों व ग्रामीणों ने किया जमकर प्रदर्शन

जबलपुर/सिहोरा। मझौली थाना के बूडऱई गांव में चोरी के मामले में पूछताछ के नाम पर पुलिस द्वारा एक युवक के साथ मारपीट किए जाने का आरोप सामने आया है। युवक ने शुक्रवार को जहर खा लिया और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। युवक के परिजनों का आरोप है कि उसने पुलिस की प्रताडऩा की वजह से यह आत्मघाती कदम उठाया। पोस्टमार्टम के बाद शव जैसे ही गांव पहुंचा मृतक के परिजनों और ग्रामीणों में आक्रोश फैल गया। सभी ने प्रदर्शन शुरू कर दिया और पुलिस कर्मियों पर मामला दर्ज करने करने की मांग की। प्रदर्शनकर्ताओं ने युवक का अंतिम संस्कार करने से भी इंकार कर दिया। जिसको लेकर तनाव की स्थिति बन गई। मौके पर मझौली थाने का पुलिस बल और अधिकारी ग्रामीणों और परिजनों को पूरे दिन जांच और कार्यवाई का आश्वासन देते रहे, लेकिन ग्रामीण दोषियों पर कार्यवाई की मांग पर अड़े रहे। देर शाम एसडीओपी द्वारा पूरे मामले की जांच के बाद दोषियों पर कार्यवाई के आश्वासन के बाद शाम साढ़े पांच बजे मृतक का अंतिम संस्कार हो सका।

ये है पूरा मामला
बूडऱई गांव में चार अगस्त को अंशो बाई के घर में चोरी हो गई थी। अंशो बाई ने मझौली थाने में किशन उर्फ पंगु यादव (32)की रिपोर्ट मझौली थाने में दर्ज कराई। दस अगस्त को पुलिस गांव पहूची और पूछताछ की बात कहकर किशन को थाने ले आई। पुलिस कर्मियों ने किशन के साथ बेरहमी से मारपीट की। मारपीट से किशन के पु_े, पैर बुरी तरह जख्मी हो गए। करीब दो सप्ताह तक किशन चल-फिर नहीं सका। इस बीच पुलिस पूछताछ के नाम पर किशन को लगातार थाने बुलवाकर पर परेशान करती रही। जिसके कारण वह परेशान हो गया।

आत्मग्लानि से था परेशान
बताया गया है कि किशन ने गुरूवार सुबह घर में जहर खा लिया। मुँह से झाग निकलता देख परिजन उसे मझौली हॉस्पिटल ले गए। हालत गम्भीर होने पर डॉक्टर ने उसे मेडिकल कॉलेज रैफर कर दिया। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। मझौली में दोपहर को पोस्टमार्टम के बाद किशन का शव जैसे ही गांव पहूँचा। भारी संख्या में ग्रामीणों का पुलिस पर आक्रोश फूट पड़ा। मृतक के पिता सुरेश यादव (56) और पत्नी सरिता यादव (28) के साथ ग्रामीणों के पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। आक्रोशित ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस की प्रताडऩा और बेरहमी से मारपीट किशन सहन नहीं कर सका। आत्मग्लानि के कारण उसने जहर खा लिया। बेरहमी से मारपीट करने वाले दोषी पुलिस वालों पर मामला दर्ज किया जाए।

कार्रवाई के आश्वासन पर माने ग्रामीण
दोपहर दो बजे से पुलिस ग्रामीणो और मृतक के परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए मनाती रही, लेकिन ग्रामीण कार्यवाई की मांग पर अड़े रहे। शाम चार बजे ग्रामीण शव लेकर श्मशान घाट पर पहूँच गए, लेकिन फिर तनाव की स्थिति बन गई। ग्रामीण तत्काल कार्यवाई की मांग पर अड़ गए। आखरिकार शाम साढ़े पांच बजे मृतक किशन का अंतिम संस्कार हुआ।

इनका कहना है
थाने में युवक के साथ मारपीट करने के पूरे मामले जांच की जाएगी। साथ ही दोषी पुलिस कर्मियों के खि़लाफ़ कार्यवाई होगी। ग्रामीणों और परिजनों को आश्वासन के बाद मृतक का अंतिम संस्कार करने तैयार हुए।
भावना मरावी, एसडीपीओ सिहोरा

 

Show More
Premshankar Tiwari Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned