युवाओं को मिलेगा आधुनिक मशीनों का ज्ञान

युवाओं को मिलेगा आधुनिक मशीनों का ज्ञान
Jabalpur. The technology center can be opened soon in the city to provide training for the production and production of the modern CNC machines used in industries

Gyani Prasad | Publish: Jul, 20 2019 01:56:01 PM (IST) | Updated: Jul, 20 2019 01:58:26 PM (IST) Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जबलपुर में खुलेगा टेक्नोलॉजी सेंटर, 250 करोड़ से ज्यादा का निवेश, हर साल एक हजार युवाओं को प्रशिक्षण, उद्योगों की जरूरत भी होगी पूरी

जबलपुर@ज्ञानी रजक. उद्योगों में इस्तेमाल होने वाली आधुनिक सीएनसी मशीनों के संचालन और कलपुर्जों के उत्पादन का प्रशिक्षण देने के लिए शहर में जल्द ही टेक्नोलॉजी सेंटर खुल सकता है। इसके लिए प्रदेश शासन ने भारत सरकार के एमएसएमइ विभाग को प्रस्ताव भेजा है। जल्द ही दिल्ली से एक टीम जबलपुर आकर सेंटर के लिए चिह्नित जमीन का निरीक्षण करेगी। शहर में राष्ट्रीय स्तर का सेंटर खुलने से हर साल एक से डेढ़ हजार युवाओं को जॉब ओरिएंटेड प्रशिक्षण मिलेगा। इसका लाभ जबलपुर में स्थापित आयुध निर्माणियों और छोटे उद्योगों को भी होगा।

15 एकड़ जमीन की आवश्यकता
250 करोड़ रुपए वाली इस परियोजना के लिए जबलपुर में 15 एकड़ जमीन की आवश्यकता है। इसके लिए उद्योग विभाग ने माढ़ोताल, रिछाई औद्योगिक क्षेत्र और डुमना एयरपोर्ट के समीप चकदेही में जमीन का प्रस्ताव भेजा है। जानकारों के अनुसार एमएसएमइ विभाग ऐसी जगह का चयन करना चाहता है, जहां युवाओं की पहुंच आसान हो। इसलिए रिछाई या माढ़ोताल पर सहमति बन सकती है।

इंदौर की तर्ज पर बनेगा सेंटर

इंदौर में स्थापित एमएसएमइ टूल रूम, जिसे इंडो-जर्मन टूल रूम के नाम से भी जाना जाता है, उसी तर्ज पर शहर में टेक्नोलॉजी सेंटर का निर्माण होगा। इसके लिए जर्मनी से तकनीकी सहयोग लिए जाने के कारण इसका नाम इंडो-जर्मन टूल रूम रखा गया है। अब देश में ही यह तकनीक विकसित कर ली गई है। इसलिए एमएसएमइ मंत्रालय ने इसका नाम टेक्नोलॉजी सेंटर रखा है।

अभी आइटीआइ में प्रशिक्षण
वर्तमान में शहर में छह शासकीय आइटीआइ का संचालन हो रहा है। इनमें हर साल 1500 छात्र-छात्राओं को बेसिक टे्रनिंग दी जाती है। शहर में कुछ निजी आइटीआइ में भी करीब एक हजार छात्रों को टे्रनिंग दी जाती है। आधुनिक मशीनें नहीं होने से प्रशिक्षण के लिए दूसरी जगह जाना पड़ता है।

ये प्रशिक्षण मिलेगा
- आधुनिक मशीनों का संचालन

- मेटल की कटिंग
- डाइ और ड्राइंग तैयार करना

- ऑटोमेटेड मशीनों की प्रोग्रामिंग
- टूल की डिजाइन तैयार करना।

- रोजगार आधारित शॉर्ट टर्म कोर्स

जबलपुर में टेक्नोलॉजी सेंटर खोलने के लिए भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है। इसमें युवाओं को आधुनिक मशीनों पर रोजगार आधारित प्रशिक्षण दिया जाता है। साल में एक हजार से ज्यादा युवाओं को टे्रनिंग दी जा सकती है।
आर. पन्नीरसेल्वम, महाप्रबंधक, एमएसएमइ टूल रूम, इंदौर

टेक्नोलॉजी सेंटर जबलपुर के लिए मील का पत्थर साबित होगा। युवाओं को उच्च स्तरीय टे्रनिंग के लिए दूसरे शहरों में नहीं जाना पडेग़ा। सेंटर के लिए जबलपुर में तीन जगहों को चिह्नित किया गया है।

आरसी कुरील, संयुक्त संचालक, परिक्षेत्रीय उद्योग कार्यालय

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned