अबूझमाड़ का होगा कायाकल्प, अब दिखाई देखा इस रूप में

अबूझमाड़ का होगा कायाकल्प, अब दिखाई देखा इस रूप में

Badal Dewangan | Publish: Jun, 16 2019 02:52:43 PM (IST) Jagdalpur, Jagdalpur, Chhattisgarh, India

एनजीटी ने दिया आदेश, नारायणपुर का आदर्श नगर के रूप में होगा विकास, 15 वार्डो में होगें विकास कार्य

नारायणपुर. नारायणपुर शहर का आदर्श शहर के रूप में जल्दी कायाकल्प होने वाला है। इसके लिए नारायणपुर नगर पालिका परिषद के 15 वार्डो को पर्यावरण के अनुकूल करने के लिए बडे पैमाने पर पौधरोपण किया जाएगा। इसका आदेश एनजीटी (नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल) ने दिया है। एनजीटी ने राज्य स्तरीय मॉनिटरिंग कमेटी से आदर्श शहर बनाने के लिए नाम मांग थे। इसमें शहर की साफ-सफाई व्यवस्था पर विशेष ध्यान रखा गया था। इसके लिए शहर में स्थापित एसएलआरएम सेंटर, शहर में निकलने वाले सूखा व गीला कचरा एकत्रित करने के लिए संसाधन, कचरा रिसाईकिल करने की योजना, कर्मचारियों की संख्या, शहर में निकलने वाले कचरे की स्थिति सहित अन्य जानकारी मांगी गई थी।

इस जानकारी को नगर पालिका परिषद ने एनजीटी की राज्य स्तरीय मॉनिटरिंग कमेटी को भेज दिया था। इस जानकारी के मिलने के बाद एनजीटी ने प्रदेश के 163 नगरीय निकाय में 28 नगरीय निकायों को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने आदर्श शहर बनाने का आदेश दिया है। प्रदेश के 28 निकायों में नारायणपुर नगर पालिका परिषद का नाम आदर्श शहर बनाने की योजना में शामिल किया गया है। प्रदेश के 28 जिलों में नारायणपुर जिले का एक मात्र नगरीय निकाय का एनजीटी की आदर्श शहर योजना में शामिल होना नारायणपुर वासियों के लिए गौरव की बात है। एनजीटी की आदर्श शहर योजना के तहत नगर पालिका परिषद के 15 वार्ड को मॉडल शहर के रूप में विकसित करने के लिए नगर में सडक़ चौड़ीकरण कार्यो के साथ-साथ तालाबों में सौदर्यकरण व गहरीकरण के कार्य किए जाएगें।

इसके लिए नगर पालिका परिषद के 15 वार्डो मेें बड़े पैमाने पर पौधरोपण कर शहर को पर्यावरण के अनुकूल तैयार किया जाएगा। इसके साथ ही नगर में स्वास्थ्य, पेयजल, बिंजली, साफ -सफ ाई, पानी निकासी की व्यवस्था सहित अन्य सुविधाएं विकसित करने के लिए गाइड लाइन बनाई जाएगी। इस आदर्श शहर योजना पर जमीनी स्तर पर पूरी पारदर्शिता के साथ कार्य होने पर ही एनजीटी के मॉडल शहर का सपना साकार हो पायेगा। इसके लिए नारायणपुर नगर पालिका को इस योजना पर पूरी तरह अमल करने के लिए ध्यान केंद्रीत करने सहित जमीनी स्तर पर इसके लिए कार्य करने होगे, अन्यथा अन्य योजनाओं की तरह एनजीटी की आदर्श शहर योजना कागजों में सिमित होकर दफ न हो जाएगी। इससे नारायणपुर शहर को मॉडल शहर के रूप में विकसित करने का सपना बस सपना बनकर रह जाएगा।

नारायणपुर शहर पर एक नजर
नारायणपुर ग्राम पंचायत को 2003 में नगर पंचायत को दर्जा दिया गया। इस नगर पंचायत में 15 वार्डों को शामिल किया गया। वही 2014 में नगर पंचायत को नगर पालिका परिषद के रूप में विकसित किया गया। इस नगर पालिका परिषद के 15 वार्डो में 22 हजार 106 जनसंख्या शामिल है। वही 15 वार्डों में 1 हजार 979 नल कनेक्शन घरेलू और 41 व्यवसायिक कनेक्शन शामिल है। भागीरथी नलजल योजना के तहत 612 परिवार में पानी सप्लाई किया जा रहा है। नगर में 216 हैंडपंप और 32 पावर पंप की मदद से लोगों की प्यास बुझाई जा रही है। शहर में 5 ओवरहेड टैंक बने हुए है। इससे शहर में पानी की सप्लाई की जाती है।

नारायणपुर नगर पालिका एक नजर में
नगर पालिका परिषद 15 वार्ड
जनसंख्या22 हजार 106
घरेलू नल कनेक्शन 1 हजार 979
व्यवसायिक कनेक्शन 41
भागीरथी नलजल योजना 612 परिवार
नगर में हैंडपंप 216
नगर में पावर पंप 32
शहर में ओवरहेड टैंक 5

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned