नक्सलियों के जमावड़े की पुलिस को मिली खबर, जैसे ही मौके पर पहुंची पुलिस, फिर जो हुआ.....

दरभा में माओवादियों का जमावड़ा, पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो भागे, 12 संदिग्ध हिरासत में, कैंप भी ध्वस्त

जगदलपुर. दरभा इलाके में माओवादी फिर से पैर पसारने की कोशिश में लगे हुए हैं। इसके लिए बाकायदा माओवादी कटेकल्याण एरिया कमेटी के सदस्य किलेपाल और मुंडानार जंगल में कैंप भी लगा रहे हैं। बुधवार को यहां दंतेवाड़ा और जगदलपुर से पुलिस टीम ऑपरेशन पर पहुंची तो माओवादियों से उनका आमना-सामना हो गया। और करीब आधे घंटे तक मुठभेड़ भी चली। कमजोर पड़ता देख माओवदी मौके से भाग खड़े हुए। इसी बीच जवानों ने यहां १२ संदिग्धों को हिरासत में ले लिया है, और पूछताछ चल रही है। वहीं यहां बने कैंप को ध्वस्त किया और सामान बरामद कर लिया है।


बस्तर आईजी पी. सुंदरराज ने बताया कि माओवादियों की सूचना पर दंतेवाड़ा और बस्तर से जवानों की टीम को ऑपरेशन पर भेजा गया था। बुधवार की सुबह करीब 4 बजे माओवादियों को सुरक्षाबलों द्वारा घेराबंदी कर ही रहे थे। तभी माओवादियों को इसकी भनक लग गई और उन्होंने जवानों को देख फायरिग शुरू कर दी। पुलिस और माओवादियों के बीच करीबन आधे घंटे मुठभेड़ चली। इसके बाद अपनी कमजोर स्थिति देखते हुए माओवादी भाग खड़े हुए। 12 संदिग्ध माओवादी एवं मिलिशिया कैडर को पुलिस द्वारा हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। घटना स्थल से विस्फोटक पदार्थ सहित काफी बड़ी मात्रा में माओवादी कैम्प सामग्री बरामद की गई। इस कार्यवाही के दौरान बस्तर डीआरजी का 01 जवान सहायक आरक्षक, योदेश पांडेय के प्रेशर आईईडी की चपेट में आने से मामूली चोटें आई है। जिसे तत्काल प्राथमिक उपचार दी गई तथा इनकी स्थिति सामान्य है। घटना स्थल के आसपास क्षेत्र की सर्चिंग की जा रही है।

Badal Dewangan
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned