बस्तर पुलिस ने जारी किया MOST WANTED की सूची, कई खूंखार नक्सली शामिल

आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा, महाराष्ट्र एवं अन्य प्रान्तों से उनके शीर्ष नक्सलियों द्वारा स्थानीय युवाओं को दिग्भ्रमित जानकारी देकर उनको गुमराह करने की लगातार कोशिश की गई थी .

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 27 Jun 2020, 04:58 PM IST

बस्तर। विगत पांच दशकों से छत्तीसगढ़ के घोर नक्सल प्रभावित बस्तर क्षेत्र की शांति व्यवस्था एवं विकास के विरोध में नक्सली संगठन ने अनेक हिंसात्मक घटनाओं को अंजाम दिया है । राज्य गठन के पश्चात अब तक नक्सली हिंसा में 1800 से अधिक जनहानि हुई एवं करोड़ों की शासकीय एवं निजी सम्पत्ति की क्षति हुई। आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा, महाराष्ट्र एवं अन्य प्रान्तों से उनके शीर्ष नक्सलियों द्वारा स्थानीय युवाओं को दिग्भ्रमित जानकारी देकर उनको गुमराह करने की लगातार कोशिश की गई थी, लेकिन बस्तर की शांतिप्रिय जनता नक्सलियों की विकास विरोधी एवं मानव विरोधी चेहरा की पहचान करते हुए उनका साथ छोड़कर शासन - प्रशासन एवं सुरक्षाबलों से सम्पर्क में आकर क्षेत्र में विकास कार्यों में अपना महत्वपूर्ण योगदान दे रही है। विगत वर्षों में अनेक स्थानीय युवक - युवती नक्सली संगठन से मोहभंग होकर समाज की मुख्यधारा में जुड़कर एक सामान्य जीवन जी रहे हैं।

बस्तर पुलिस ने जारी किया MOST WANTED की सूची, कई खूंखार नक्सली शामिल

बस्तर क्षेत्र को नक्सल आतंक से मुक्त करने हेतु नक्सलियों के शीर्ष नेतृत्व को टारगेट करने की आवश्यकता को महसूस करते हुए बस्तर पुलिस द्वारा उनकी Profile तैयार की गई है। पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज सुंदरराज पी. द्वारा नक्सलियों की मोस्ट वांटेड सूची जारी करते हुए क्षेत्रवासियों से उनके संबंध में जानकारी, आसूचना देने हेतु अपील की गई।

पुलिस द्वारा यह भी आश्वस्त किया गया कि नक्सलियों के संबंध में जानकारी देने वाले व्यक्तियों का नाम, पता को गोपनीय रखा जावेगा एवं उनके ऊपर घोषित ईनाम राशि सूचना देने वाले व्यक्तियों को वितरित की जावेगी ।

पुलिस महानिरीक्षक, बस्तर रेंज सुंदरराज पी. द्वारा पुनः स्थानीय नक्सली कैडर को हिंसा छोड़कर शासन की आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति के तहत मुख्यधारा में शामिल होने हेतु अपील की गई है।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned