scriptBastar School: अचानक भरभराकर गिरा स्कूल का छत, 5 बच्चे बुरी तरह घायल, मच गई चीख पुकार | Bastar School: school roof collapsed, 5 student injured | Patrika News
जगदलपुर

Bastar School: अचानक भरभराकर गिरा स्कूल का छत, 5 बच्चे बुरी तरह घायल, मच गई चीख पुकार

Bastar School: प्राथमिक शाला में छत की प्लास्टर भरभराकर स्कूली बच्चों पर गिर गई। सुबह 11.30 बजे प्लास्टर का बड़ा और भारी हिस्सा पढ़ाई कर रहे बच्चों पर अचानक आ गिरा।

जगदलपुरJul 05, 2024 / 05:27 pm

Kanakdurga jha

Bastar School
Bastar School: जिला प्रशासन ने बुधवार को एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया था कि जिले के सैकड़ों स्कूलों की जर्जर स्थिति को सुधारने के लिए मौजूदा सत्र में करोड़ों रुपए खर्च किए गए हैं। विज्ञप्ति में स्कूलों पर खर्च की गई राशि का पूरा ब्योरा दिया गया था। इस दावे के अगले ही दिन दरभा ब्लॉक के छोटे गुडरा स्थित प्राथमिक शाला में छत की प्लास्टर भरभराकर स्कूली बच्चों पर गिर गई। सुबह 11.30 बजे प्लास्टर का बड़ा और (Bastar School) भारी हिस्सा पढ़ाई कर रहे बच्चों पर अचानक आ गिरा।
यह भी पढ़ें

Bastar School: न सिर पर छत न शिक्षक… टूटकर गिर रही स्कूल की दिवार, अब कैसे पढ़ाई करेंगे बच्चे?

इस हादसे की वजह से क्लास में पढ़ाई कर रहे पांच बच्चे घायल हो गए। जब हादसा हुआ तब क्लास में 15 बच्चे थे। बच्चों पर प्लास्टर गिरते ही पूरे स्कूल में चीख पुकार मच गई। स्कूल में अफरा तफरी के माहौल के बीच बच्चों के उपर गिरे मलबे को हटाया गया और उन्हें घायल अवस्था में तत्काल अस्पताल ले जाया गया। हादसे में कुछ बच्चों के सिर पर ज्यादा चोट आई है।
ग्रामीणों ने घायल बच्चों को तुरंत स्वस्थ्य केंद्र में पहुंचाया। घायल बच्चों के माता-पिता भी पहुंच गए थे। हादसे की खबर मिलते ही चित्रकोट विधायक विनायक गोयल व कलेक्टर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। गोयल ने घायल बच्चों से मिले और उनका हालचाल जाना। उन्होंने डॉक्टरों को बच्चों का समुचित इलाज करने के निर्देश भी दिए।

143 स्कूलों की सूची में भी नहीं था नाम

तोकापाल अस्पताल पहुंचे बच्चों के परिजनों ने बताया कि स्कूल की जर्जर स्थिति को लेकर कई बार शिक्षकों से शिकायत की गई थी। इसके बावजूद स्थिति नहीं सुधरी और फिर यह हादसा हो गया। वहीं यह बात भी सामने आ रही है कि स्कूल शिक्षा के अधिकारियों को स्कूल की जर्जर स्थिति की जानकारी थी। उन्होंने ब्लाॅंक के जर्जर स्कूलों की सूची में इस स्कूल को भी शामिल किया था। मरमत का काम यहां भी होना था। इसके बावजूद स्कूल का नंबर मरमत के काम के लिए नहीं आ पाया।

Bastar School: 3 करोड़ खर्च करने के बाद भी हुआ हादसा

जिले के कुल 143 प्राथमिक शालाओं के मरमत पर 3. करोड़ से ज्यादा राशि खर्च किए गए, लेकिन।छोटे गुंडरा स्कूल शामिल ही नहीं किया। जर्जर होने के बाद भी विद्यालय को शामिल न करना समझ से परे है। जिले के सैकड़ो जर्जर प्राथमिक शाला है जिनकी मरमत का काम अब तक पूरा नहीं हो पाया है। उन्हीं स्कूलों (Bastar School) में छोटे गुंडरा स्कूल भी शामिल हैं।

Hindi News/ Jagdalpur / Bastar School: अचानक भरभराकर गिरा स्कूल का छत, 5 बच्चे बुरी तरह घायल, मच गई चीख पुकार

ट्रेंडिंग वीडियो