scriptCenter's Jal Jeevan Mission is breaking in Bastar, contractors are not | केन्द्र का जल जीवन मिशन बस्तर में तोड़ रहा दम, समय पर भुगतान नहीं होने से ठेकेदार नहीं दिखा रहे हैं रुचि | Patrika News

केन्द्र का जल जीवन मिशन बस्तर में तोड़ रहा दम, समय पर भुगतान नहीं होने से ठेकेदार नहीं दिखा रहे हैं रुचि

जगदलपुर। बस्तर जिले में केन्द्र सरकार की महत्वकांक्षी जल जीवन मिशन शुरु होने से पहले ही दम तोड़ने लगी है। गांव के प्रत्येक घर तक नल कनेक्शन के जरिए पेयजल उपलब्ध की यह योजना साकार होते नहीं दिख रही है, जिले के 614 गांव हैं, जिसमें से अब तक 30 फीसदी 180 गांव में काम चल रहा है, लेकिन एक भी गांव में काम पूर्ण नहीं हो पाया है।

जगदलपुर

Published: May 30, 2022 08:07:39 pm


फैक्ट फाईल

जल जीवन मिशन के तहत घर-घर नल कनेक्शन की स्थितिजिले के 614 गांव का लक्ष्य

केवल 180 गांव का टेण्डर434 गांव का टेण्डर शेष

- बजट के अभाव में ठेकेदारों के 7 करोड़ रुपए से अधिक भुगतान शेष
water
जल जीवन मिशन के तहत घर-घर नल कनेक्शन की स्थितिजिले के 614 गांव का लक्ष्य
- प्रत्येक ठेकेदारों का 30 लाख से 80 लाख रुपए काम में फंसा- जिले के 1 लाख 41 हजार 61 घरों में नल कनेक्शन जोड़ने की योजना

- ठेकेदारों पर पड़ रही दोहरी मार, ब्लैक लिस्टेड और पेनाल्टी की कार्यवाही
ठेकेदारों ने भुगतान नहीं होने से काम बीच मेंं ही रोक दिया है। एक तरफ जल जीवन मिशन के तहत करीब 7 करोड़ रुपए से अधिक राशि का भुगतान ठेकेदारों को महीनों से नहीं हुआ है, दूसरी तरफ पेनाल्टी और ब्लेक लिस्टेड की कार्यवाही की जा रही है। ऐसे में ठेकेदार दोहरी मार झेल रहे हैं।
जल जीवन की मिशन के तहत बस्तर जिले के 1 लाख 41 हजार 61 घरों में नल कनेक्शन जोड़ने की योजना है। वर्ष 2019 में शुरु इस योजना के मुताबिक बस्तर जिले के ग्रामीण इलाकों में बसे हर घर में नल के जरिए पेयजल पहुंचाना है। इसके लिए अब तक पीएचई (लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग) की ओर से 180 गांव का टेण्डर ठेकेदारों को काम सौंपा गया, ठेकेदारों को उक्त काम पूर्ण करने के लिए 6 माह की अवधि दी गई थी। पर स्थानीय विधायकों के द्वारा काम का शिलान्यास में डेढ़ से दो माह का समय गुजर गया। बचे शेष 4 माह में ठेकेदारों को काम पूर्ण करना है, नहीं तो योजना की गाइड लाईन के तहत बड़ी पेनाल्टी और ब्लैक लिस्टेड की कार्यवाही होगी। वहीं ठेकेदारों ने अब तक जो काम किया है, उसका बिल भुगतान फरवरी माह से लंबित हैं। प्रत्येक ठेकेदार के 30 से 80 लाख रुपए का भुगतान महीनों से अटका पड़ा है, जिसे लेकर ठेकेदारों को विभाग के अधिकारियों से स्पष्ट जवाब नहीं मिल रहा है। ऐसे में जल जीवन मिशन का काम लेने वाले ठेकेदार कार्यालय के चक्कर लगा रहे हैं, अधिकांश ठेकेदारों ने भुगतान नहीं होने से काम बंद कर दिया है, निविदा किए कार्यों का यह आलम हैं, तो शेष 434 गांव में आने वाले दिनों में किस तरह काम होगा। इन परिस्थतियों में बस्तर में रहने वाले हजारों आदिवासी के घरों तक योजना पहुंचाने की चुनौती है।
मुल्य वृद्धि और कार्यवाही से ठेकेदार परेशानठेकेदार अंकित ठक्कर ने बताया कि एक तरफ काम का भुगतान पेंडिंग हैं, अब तक इस काम में ठेेकेदारो ंने लाखों रुपए फंसा दिया है। उक्त काम का बिल लगाए हुए लंबा वक्त गुजर चुका है, पर भुगतान नहीं हो सका है। मार्केट से सामान उधार में लेकर ठेकेदार काम कर रहे हैं, जिन्हे पेमेंट करना है। वहीं कुछ ठेकेदारो ंने बैंक से लोन लेकर काम कर रहे हैं। बावजूद भुगतान पेंडिंग होने की वजह से अब काम करने ठेकेदार शुरु करने में असमर्थ हैं। दूसरी तरफ विभाग की ओर से पेनाल्टी और ब्लैक लिस्टेड किया जा रहा है। ऐसे में केन्द्र और राज्य सरकार से ठेकेदारों की मांग है, कि जल्द से जल्द भुगतान कर ठेकेदारों को राहत पहुंचाया जाए, ताकि समय पर काम पूर्ण किया जा सके।
- मानसून आने पर तीन माह के लिए रुक जाएगा काम

अगले माह 16 जून से मानसून शुरु होने के बाद पाइप लाइन बिछाने का काम रुक जाएगा। बारिश में ठेकेदारों के द्वारा काम करवा पाना मुश्किल होगा। ऐसे में तीन से चार माह मानसून तक समस्त कार्य बंद करने पड़ेगे। वहीं समयावधि पर काम पूर्ण नहीं होने पर फिर ठेकेदारों को पेनाल्टी लगेगा।
रेट्रोफि टिंग के तहत पानी पहुंचाना है पेयजलमिशन के अंततर्गत रेट्रोफिटिंग के जरिए जिन ग्राम में नल-जल योजना से पानी की टंकी तो है, पर नल कनेक्शन से हर-घर तक नहीं पहुँच रहा है। ऐसे छूटे हुए घरों तक पाइप लाइन बिछाकर नल कनेक्शन जोड़ा जाएगा। जिसमे पहले चरण में 130 ग्राम का काम पूर्ण किया जाएगा।
- 15 वें वित्त की 50 फीसदी राशि होगी खर्च

इस योजना में नल कनेक्शन के लिए पाइपलाइन विस्तार कार्य की 50 फीसदी पंचायत के 15 वें वित्त की राशि से खर्च की जाएगी। पहले चरण में 40 फीसदी गाँव मे रेट्रोफिटिंग योजना के तहत नल कनेक्शन किया जाना है।
- वर्ष 2023 तक कैसे पूरा होगा लक्ष्यवर्ष 2023 तक प्रत्येक घर मे नल कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है, पर यह होता दिखाई नहीं पड़ता है। पंचायत में टंकी से पाइप लाइन पहुंचाना घर तक पहुंचाना है। सोलर पम्प से पाइप लाइन घर तक जोड़ना है। इसके अलावा एनीकट, डेम से भी स्वच्छ पानी नल कनेक्शन के माध्यम से घरों तक पहुंचाने का काम किया जाना है।
- वर्जन

बजट का आबंटन अप्रात्प होने से ठेकेदारों का भुगतान लंबित है, जैसे ही आबंटन प्राप्त होगा भुगतान किया जाएगा। कुछ ठेकेदारों पर नियमानुसार पेनाल्टी और ब्लैक लिस्टेड को कार्यवाही की गई है।- सतीश पाण्डे,
पीएचई कार्यपालन अभियंता

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

जाने-माने लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयॉर्क में जानलेवा हमला, चाकुओं से गोदकर किया घायलमनीष सिसोदिया का BJP पर निशाना, कहा - 'रेवड़ी बोलकर मजाक उड़ाने वाले चला रहे दोस्तवादी मॉडल'सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंगHimachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.