scriptcorona samples coming from Durg division in medical college jagdalpur | बस्तर संभाग सहित इस संभाग से भी आते हैं डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में कोरोना सैंपल, वायरोलॉजी लैब में बढ़ा जांच का लोड | Patrika News

बस्तर संभाग सहित इस संभाग से भी आते हैं डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में कोरोना सैंपल, वायरोलॉजी लैब में बढ़ा जांच का लोड

बस्तर के साथ अब दुर्ग संभाग से भी आ रहा मेडिकल कॉलेज में सैंपल, वायरोलॉजी लैब में बढ़ा कोरोना जांच का लोड, हर दिन तीन शिफ्ट में ढ़ाई से तीन सौ सैंपल की कर रहे जांच

जगदलपुर

Published: June 13, 2020 06:00:45 pm

जगदलपुर. मेडिकल कॉलेज में बस्तर के साथ ही अब दुर्ग संभाग से भी जांच के लिए सैंपल आ रहे हैं। ऐसे में यहां पर के वायरोलॉजी लैब में आरटीपीसीआर जांच का लोड बढ़ गया है। इन दिनों प्रवासी मजदूरों के वापस लौटने के कारण बस्तर संभाग से हर दिन 3 से चार सौ सैंपल आ रहा है। ऐसे में जांच रिपोर्ट आने में काफी समय लग रहा है।
बस्तर संभाग सहित इस संभाग से भी आते हैं डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में कोरोना सैंपल, वायरोलॉजी लैब में बढ़ा जांच का लोड
बस्तर संभाग सहित इस संभाग से भी आते हैं डिमरापाल मेडिकल कॉलेज में कोरोना सैंपल, वायरोलॉजी लैब में बढ़ा जांच का लोड
मिली जानकारी के अनुसार मेडिकल कॉलेज के वॉयरोलॉजी लैब में अब तक करीब 15 हजार 503 सैंपल की जांच कर चुके हैं। इसमें 10 पॉजीटिव आया। एम्स में कोरोना जांच का लोड बढऩे पर अब दुर्ग संभाग का सैंपल जांच के लिए डिमरापाल मेडिकल कॉलेज भेजा जा रहा है। ऐसे में दुर्ग संभाग से बुधवार को करीब 70- 50 सैंपल जांच के लिए भेजा गया। वहीं पूरे प्रदेश में सिर्फ तीन जगह पर ही कोरोना जांच हो रही है। इस वजह से यहां पर भी जांच का लोड बढ़ता जा रहा है। गौरतलब है कि मेडिकल कॉलेज में आरटीपीसीआर जांच के लिए दो मशीन हैं। जिसे अल्टरनेट तीन शिफ्ट में उपयोग किया जा रहा है। एक शिफ्ट में करीब 120 सैंपल की जांच की जा रही है।
इस वजह से जांच में हो रही देरी
आरटीपीसीआर जांच मशीन में एक बार में सिर्फ 12 सैंपल की जांच की जा सकती है। एक बार सैंपल जांच के लिए लगाने के बाद रिपोर्ट आने में करीब 6 घंटे लगते हैं। ऐसे में अधिक से अधिक सैंपल की जांच करने के लिए 10 सैंपल को मिला कर एक सैंपल बनाया जाता है। फिर उसे जांच के लिए आरटीपीसीआर मशीन में लगाते है। ऐसे में एक बार में करीब 120 सैंपल की जांच हो जाती है। यदि इसमें किसी भी एक सैंपल का रिपोर्ट पॉजीटिव आता हैए तो फिर उन 10 सैंपल का फिर से अलग.अलग जांच किया जाता है। इस वजह से यहां पर जांच में देरी हो रही है और पेंडिंग सैंपल की संख्या बढ़ रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Gyanvapi Masjid Case: ज्ञानवापी में शिवलिंग के दावे के बीच आज सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई, वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई कोExclusive: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट से मंदिर-मस्जिद के सबूतों का नया अध्याय, जानें क्या है इन सर्वे रिपोर्ट मेंGood News: AIIMS दिल्ली में अब 300 रुपए तक के टेस्ट होंगे मुफ्तIPL 2022, RCB vs GT: Virat Kohli का तूफान, RCB ने जीता मुकाबला, प्लेऑफ की उम्मीदों को लगे पंखBRICS Summit: ब्रिक्स देशों के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए भारत के विदेश मंत्री जयशंकर ने उठाया आतंकवाद का मुद्दाअफगानिस्तान में तालिबान का नया फरमान- महिला टीवी एंकर चेहरा ढककर पढ़ें खबरअमेरिकी राष्ट्रपति Biden के लिए महाराष्ट्र और आंध्र से गिफ्ट में जाएंगे आमसीएम मान ने अमित शाह से मुलाकात के बाद कहा-पंजाब में तैनात होंगे 2,000 और सुरक्षाकर्मी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.