scriptEvery day 200 people in the country are victims of bank frauds | देश में हर दिन 200 लोग डेबिट-क्रेडिट और इंटरनेट बैंकिंग से हो रहे बैंक फ्रॉड का शिकार | Patrika News

देश में हर दिन 200 लोग डेबिट-क्रेडिट और इंटरनेट बैंकिंग से हो रहे बैंक फ्रॉड का शिकार

बढ़ रहे सायबर फ्रॉड के कारण देश में अब बैंकिंग सिस्टम के प्रति भरोसा कम होने लगा है. डेबिट-क्रेडिट कार्ड से लेनदेन अब सुरक्षित नहीं रहा है ठग बड़ी आसानी से सिस्टम में सेंध लगाकर वर्षो से जमा लोगो की गाढ़ी कमाई चंद मिनटों में गायब कर देते हैं. इस दिशा में सरकार और आरबीआई के किए जा रहे प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं |

जगदलपुर

Updated: May 13, 2022 08:54:34 am

मनीष गुप्ता
जगदलपुर. बैको के द्वारा जारी डेबिट-क्रेडिट और इंटरनेट बैंकिंग से बढ़ रहे बैंक फ्रॉड के मामलों ने बैंक कस्टमर्स की नींद उड़ा दी है बैंको में जमा पूँजी को लेकर लोगो के मन मे असुरक्षा के भाव घर करने लगे हैं हालांकि आरबीआई और सरकार सायबर फ्रॉड रोकने के लिए लगातार प्रयासरत है पर ठग नित नए तरीके इज़ाद कर सिस्टम में सेंध लगाकर लोगो को चूना लगाने में कामयाब हो रहे है लोकसभा में सरकार द्वारा जारी आंकड़े बताते है कि वर्ष 2018 से 2022 तक पिछले 4 वर्षों के दौरान देश मे बैंकफ्रॉड के 2 लाख 49 हज़ार 927 मामले सामने आए है वहीं एक कम्प्यूटर की सुरक्षा से जुड़े मामलों की निगरानी करने वाली सरकारी कम्पनी इंडियन कम्प्यूटर इमर्जेंसी रिस्पांस टीम (सीईआरटी-इन) द्वारा जारी बैंकफ्रॉड के आंकड़े 2 लाख 94 हज़ार 382 है । यानि इस ई इनसे उपभोक्ताओं को लगभग एक हाजर करोड़ से अधिक का चूना लगा है ।इन दोनों आंकड़ो का औसत बताता है कि देश मे हर दिन 200 से अधिक लोग बैंक फ्रॉड का शिकार बन रहे है इन चार वर्षों में एक हज़ार करोड़ रुपयो से का चूना लगा है ।
छत्तीसगढ़ में भी तेजी से बढ़ रहे आंकड़े
छत्तीसगढ़ में साइबर क्राइम के आंकड़े लगातार बढ़ रहे है तीन वर्षों में में इसके आंकड़े डेढ़ गुना से अधिक बढ़ गए है गृहमंत्रालय के मुताबिक वर्ष 2019 में राज्य में जहां 317 मामले दर्ज हुए है वही 2020 में यह आंकड़ा 504 हो गया तथा 2021 में साइबर क्राइम बढ़कर 575 तक पहुंच गया । इनमे से आधे से अधिक मामले सायबर फ्रॉड के है बस्तर आइजी के मुताबिक संभाग में दो वर्षों में फ्रॉड के मामलों में दस फीसदी की वृद्धि हुई है ।वर्ष 2020 में जहां 128 तथा 2021 में 141 मामले दर्ज किए गए है
महाराष्ट्र में चार सालों में 99 हजार मामले
सायबर बैंक फ्रॉड के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र में दर्ज हुए है चार वर्षों के दौरान डेबिट और क्रेडिट कार्ड से धोखाधड़ी के 99,334 मामलो में 253.3 करोड़ रुपये का फ्रॉड हुआ । फ्रॉड के मामलों में दिल्ली दूसरे नम्बर पर है जहां चार वर्षों में 25555 मामले दर्ज हुए है इसके पश्चात तमिलनाडु में 23817 एवं हरियाणा में 22908 लोगो के साथ फ्रॉड हुआ है
निजी बैंको में ज्यादा फ्रॉड
डेबिट-क्रेडिट कार्ड के जरिये जो फ्रॉड हुए है उनमें सरकारी बैंकों से अधिक मामले निजी बैंको बैंको के सामने आए है लोकसभा में जारी आंकड़ो के मुताबिक पिछले चार वर्षों में कोटक महेंद्रा बैंक में 1 लाख 37 हज़ार 640 मामलो 197.05 करोड़ का फ्रॉड हुआ है इसके साथ-साथ अमेरिकन एक्सप्रेस बैंकिग, आईसीआईसीआई, हांगकाग शंघाई,एक्सिस,एसबीआई और एचडीएफसी,बैंक में भी फ्रॉड के मामले सामने आए है
फ्रॉड के लिए अपना रहे नए-नए तरीके
आरबीआई और सरकार सायबर फ्रॉड को रोकने के लिए लोगो को जागरूक बनाने के साथ-साथ कई अन्य उपाय भी कर रहे है पर बैंकफ्रॉड के मामले कम होते नज़र नही आ रहे है इन्हें हम इन दो केस से समझ सकते है
केस एक-
मोबाईल में ऐप्प लोड किया और पैसे गायब
कुछ माह पूर्व बस्तर में मतदाता सूची पुनरीक्षण में लगे एक कर्मी देवेश सिंह ( बदला हुआ नाम ) ने शिकायत दर्ज कराई कि उसके मोबाईल में एक फोन आया जिसमे फोनकर्ता एक अफसर बनकर उससे जानकारी मांग रहा था उसने जो जानकारी मांगी वह पहले भी जमा कर चुका था लेकिन डेटा मैच न करने की बात कहकर उसने देवेश से मोबाईल पर एक एनिडेस्क ऐप्प लोड करने को कहा, ऐप्प लोड करने के बाद ऐप्प का नम्बर मांगा और उनको बातचीत में उलझाए रखा, इस बीच 3 बार उसके एकाउंट से 78 हज़ार रुपए पार हो गए,मैसेज आने पर उसे ज्ञात हुआ कि वह फ्रॉड का शिकार हो गया है ।
केस दो -
जनधन खाताधारक की मजदूरी भी नही छोड़ी
प्रधानमंत्री के आह्वान पर गरीबो के जनधन खातों पर भी ठगों की नज़र लगी हुई है दक्षिण बस्तर के एक राजमिस्त्री सुकालू राम ( बदला हुआ नाम ) के खाते में 31हजार 774 रुपये जमा थे एक दिन उसके मोबाईल पर फोन आया और उससे खाता बंद होने की जानकारी देकर उसका खाता अपडेट करने की बात कह कर उससे ओटीपी मांगी, और उससे पैसे निकाल लिए, कुछ समय के बाद जब उसे पैसों की जरूरत हुई तो वह बैंक गया तो पता चला कि उसके खाते में पैसे ही नही है पुलिस में शिकायत परन्तु तब तक देर हो चुकी थी ।
बैंको में भी सुरक्षित नही है लोगों की पूंजी
आम लोग हो रहे सायबर बैंक फ्रॉड के शिकार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पंजाब CM भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोप में किया बर्खास्त, मामला दर्जकहां रहता है मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम? भांजे अलीशाह ने ED के सामने किया खुलासाहेमंत सोरेन माइनिंग लीज केस में PIL की मेंटेनेबिलिटी पर झारखण्ड हाईकोर्ट में 1 जून को सुनवाईकांग्रेस की Task Force-2024 और पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी का ऐलान, जानिए सोनिया गांधी ने किन को दिया मौकापाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टये है प्लेऑफ में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट, 8 में से 7 खिलाड़ी एक ही टीम केकुतुब मीनार केसः साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी, 9 जून को अदालत सुनाएगी फैसलाPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.