कोमा से बाहर आई मासूम, मुंह से निकली आवाज, पर कहर ढाने वाला हैवान अब भी फरार

मोटूराम ने 29 अक्टूबर को गांव के जंगल मे मासूम के साथ बुरी तरह से मारपीट की। मासूम के सिर में गंभीर चोट के साथ नाक-कान जख्मी हो गए थे।

By: ajay shrivastav

Updated: 10 Nov 2017, 02:59 PM IST

दंतेवाड़ा. कुआकोंडा थाना क्षेत्र के बड़ेगुडरा के जंगल में मासूम को अधमरे हालत में छोड़ कर भागने वाले आरोपी को पुलिस अब तक नहीं पकड़ सकी है। इधर प्रशासन की मदद से राजधानी के निजी अस्पताल में हो रहे इलाज से वह अब कोमा से बाहर आ गई है। करीब एक हफ्ते बाद वह अब बोलने भी लगी है पर बच्ची पर उसकी हालत अब भी गंभीर है। डॉक्टरा विशेष नजर बनाए हुए हैं।

मासूम के साथ बुरी तरह से मारपीट की
बड़ेगुडरा के मोटूराम ने 29 अक्टूबर को गांव के करीब जंगल मे मासूम के साथ बुरी तरह से मारपीट की। मासूम के सिर में गंभीर चोट के साथ नाक-कान जख्मी हो गए थे। उसे जिला अस्पताल में उपचार के बाद मेकॉज भेजा गया। इसके बाद प्रशासन की पहल पर रायपुर रेफर कर दिया गया।

Read More : कहीं पाक्सो बॉक्स नहीं तो कहीं पर बॉक्स के बारे में पता ही नहीं, जानिए क्यों है जरूरी यह बॉक्स हर स्कूलों में

प्रशासन बच्ची का इलाज करा रहा है
अब दंतेवाड़ा से जिला पंचायत उपाध्यक्ष मनीष सुराना व जिला पंचायत सदस्य नंदलाल मुडामी हाल जानने के लिए रायपुर पहुंचे। बता दें मासूम के परिजन के साथ जिला पंचायत सदस्य ने कलक्टर से इलाज कराने का आग्रह किया था। उनकी पहल पर प्रशासन बच्ची का इलाज करा रहा है।

जनप्रतिनिधि बोले सुधर रही हालत
बुधवार को जिला पंचायत उपाध्यक्ष मनीष सुराना व कुछ लोग मासूम का हाल जानने पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि मासूम अभी होश में आ गई है। लेकिन व पूरी तरह से स्वस्थ नहीं है। बोल भी रही है पर पूरी तरह से नहीं। हालत पहले से बेहतर हैं। मनीष सुराना का कहना है कि आने के बाद वे एसपी से मुलाकात करंेगे। मासूम को इस हालत में पहुंचाने वाले आरोपी को जल्द पकडऩे के की मांग की जाएगी। इधर पुलिस सूत्र के मुताबिक आरोपी हैदराबाद में है। उसकी गिरफ्तारी के लिए एक टीम हैदराबाद भेजी जाएगी लेकिन अभी तक टीम निकली नहीं है।

ajay shrivastav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned