अब छात्रों के लिए उनका स्मार्टफोन बन जाएगा पढ़ाई का जरिया, अपने स्कूल की पुस्तकों को पढ़ सकेगें ऑनलाइन

अब छात्रों के लिए उनका स्मार्टफोन बन जाएगा पढ़ाई का जरिया, अपने स्कूल की पुस्तकों को पढ़ सकेगें ऑनलाइन

Badal Dewangan | Updated: 04 Jun 2019, 11:30:37 AM (IST) Jagdalpur, Jagdalpur, Chhattisgarh, India

किताब के क्यूआर कोड करें स्कैन, ऑडियो-वीडियो में मिलेगी विषय की जानकारी, प्रदेश में स्मार्ट पढ़ाई की ओर बढ़े कदम

मनीष साहू/जगदलपुर . राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) की किताबों को अब छात्र ऑनलाइन बढ़ सकेंगे। इतना ही नहीं विषय की जानकारी ऑडियो-वीडियो में भी मिलेगी। इसके लिए संस्थान ने कक्षा पहली से कक्षा 12 वीं तक की किताबों को ऑनलाइन कर दिया। साथ ही सभी किताबों को क्यूआर कोड से लिंक भी किया गया है।

डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने के लिए इस प्रकार की पहल की गई है। एससीईआरटी ने दीक्षा नेशनल टीचर्स प्लेटफार्म फॉर इंडिया एप्लीकेशन से टाई अप किया है।
शिक्षक जैसे ही दीक्षा एप के जरिए इस कोड को स्कैन करेगा उन्हें पोर्टल पर मौजूद तमाम स्टडी मैटीरियल का लिंक मिल जाएगा। इस लिंक में सबसे ज्यादा ऑडियो और वीडियो अटैच है। इनकी मदद से न केवल शिक्षक खुद को अपडेट कर सकेंगे, बल्कि स्मार्ट फोन की मदद से कक्षा में स्मार्ट एजुकेशन भी दे सकेंगे। शिक्षक के साथ ही छात्र भी स्मार्ट फोन से जानकारी ले सकते है।

नरवा, गरूवा, घुरवा व बाड़ी की जानकारी भी
सरकार बदलते ही पाठ्यपुस्तकों के विषय-वस्तु में भी बदलाव किया गया है। मीडिल, हाई और हायर सेकंडरी स्कूल के हिंद और भुगोल पुस्तक में छत्तीसगढ़ से संबंधित पाठ की संख्या बढ़ गई है। ७वीं संस्कृत किताब में भोरमदेव तो हिंदी में नाचा के महान कलाकार दुलार सिंह साव दाऊ मंदरा के बारे में दिया गया है। वहीं किताबों के पीछे नरवा, गरूवा, घुरूवा और बारी की भी जानकारी दी गई है।

ऐसे करे दीक्षा एप स्टॉल
दीक्षा एप स्टॉल करने के लिए स्मार्ट फोन में गूगल प्ले स्टोर में दीक्षा एनसीटीई टाइप करने पर एप आ जाएगा, जिसे डाउनलोड किया जा सकता है। वहीं अपने मोबाइल के ब्राउजर पर दीक्षाडॉटजीओवीडॉटइन टाइप करने पर भी एप मिल जाएगा। कम्प्यूटर में इस एप के उपयोग के लिए ६ डिजिट का क्यूआर कोड टाइप करने के बाद विषय-वस्तु की जानकारी मिल जाएगी।

कक्षा 6वीं में विज्ञान और 7वीं में गणित की किताब नहीं
शिक्षण सत्र २०१९-२० के लिए स्कूल १५ जून से शुरू होगी। बावजूद अब तक कई किताब नहीं पहुंची है। कक्षा ६वीं में विज्ञान और सातवी में गणित की किताब नहीं पहुंची है। वहीं उसुर और परसगांव विकासखंड में किताबों की सप्लाई नहीं हुई है। इस बार ६वीं, ७वीं में ४२ हजार और ८वीं में ४३ हजार किताबें बांटी जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned